मेरा बिलासपुर

धैर्य की परीक्षा ठीक नहीं..पूर्व छात्र नेता हवाई सेवा धरना में कूदे…कहा..नहीं चाहते जोन आंदोलन की पुनरावृत्ति ..मांग पूरी होने पर ही लौटेंगे कदम

बिलासपुर—अखण्ड धरना के 95वें दिन विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र संघ नेताओं ने हवाई सेवा आंदोलन का समर्थन किया। छात्र संघ के पूर्व नेताओं ने धरने में अपने महाविद्यालयीन दिनो से अब तक के बिलासपुर के विकास के लिए गए कार्यों को याद किया। भारी मन से यह भी कहा कि राज्य बनने के बाद सारी सुविधाएं सारे विकास केवल राजधानी के हिस्से में ही होकर रह गयी है। बिलासपुर को केवल आश्वासनों से ही बरगला गया। हमें अपनी आधारभूत जरूरते भी पूरी करनी होती है तो इसके लिए आंदोलन ही एक मात्र जरिया होता है।
 
               हवाई सेवा आंदोलन की सभा मे छात्र संघ की तरफ से पूर्व सीएमडी अध्यक्ष मुंशीराम उपवेजा और अजीत शुक्ला ने कहा कि बिलासपुर को हमेशा उपेक्षा का शिकार होना पडता है।वक्ताओं ने विश्ववविद्यालय के लिए हुए संघर्ष को याद किया। पहले विश्ववविद्यालय छात्र संघ अध्यक्ष आशीष सिंह और सीएमडी अध्यक्ष विजय पाण्डेय ने आक्रोष जाहिर किया कि समय की मांग है कि हवाई सुविधा को जल्द से जल्द से मूर्तरूप दिया जाए।  बिलासपुर के विकास में एक सार्थक पहल की जाये। छात्र नेता और प्रख्यात खिलाडी रहे राकेश शर्मा ने सभा को संबोधित करते हुये कहा कि अभी हाल ही में आस-पास के जिलो से हवाई धरने को समर्थन देने वाले संघों ने प्रत्यक्ष रूप से साबित कर दिया कि बिलासपुर ही राज्य का केन्द्र बिन्दु है। यदि हमें राज्य का विकास चाहिए तो रायपुर के साथ-साथ बिलासपुर का भी समानान्तर विकास जरूरी है। पूर्व विश्वविद्यालय अध्यक्ष अजय सिंह ठाकुर और सीएमडी अध्यक्ष स्वप्निल शुक्ला, राकेश तिवारी ने कहा कि इसके लिए हवाई सुविधा जोन आंदोलन की तरह मील का पत्थर साबित होगी।
 
          धरने में वर्तमान महापौर रामशरण यादव और लोकसभा चुनाव लड चुके अटल श्रीवास्तव भी शामिल हुए। दोनो  पूर्व छात्र नेताओं ने कहा कि हम शिक्षा, व्यापार, संसाधन किसी भी क्षेत्र में राजधानी से कुछ भी कमतर नही है। बावजूद इसके जहां राजधानी की सभी जरूरते बिना बोले समय से पहले पूरी कर दी जाती है वही बिलासपुर के हमें आंदोलन का सहारा लेना पडता है।
 
                               मांग के समर्थन में अभय नारायण राय, सुशांत शुक्ला, समीर अहमद संजय मुरारका, नवीन कलवानी, दीपक अग्रवाल, आदि ने भी संबोधित किया। वक्ताओं ने कहा कि बिलासपुर को कमतर न आंका जाये, अन्यथा रेलवे जोन आंदोलन पुनरावृत्ति को रोकना मुश्किल हो जाएगा। पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष धर्मेश शर्मा, महेन्द्र गंगोत्री ने कहा कि अब बिलासपुर हवाई सुविधा लेने तक अपने कदम पीछे नही लेने वाले है।  हवाई सुविधा के लिए बिलासपुर की जनता आतुर है । इस बात से ही पता चलता है कि मांग के समर्थन में प्रधानमंत्री उड्डयन मंत्री को केवल दो दिन के भीतर 500 से ज्यादा पोस्टकार्ड लिखे जा चुके हैं।

जनआशीर्वाद यात्रा में कांग्रेसियों का दावा..सरकंडा वासियो में गहरी नाराजगी..कहा..महंगाई ने बिगाड़ा घर का बजट
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS