नई पार्टी से भाजपा और मित्र संगठन परेशान…जोगी

Editor
3 Min Read

jogi-13रायपुर— पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने आज औपचारिक रूप से कांग्रेस हाईकमान को कांग्रेस पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा भेज दिया है। जोगी ने बताया कि छत्तीसगढ़ को भारतीय जनता पार्टी के कुशासन से निजात दिलाने नई पार्टी का एलान किया है। कांग्रेस में रहकर संभव नहीं था। इसलिए पार्टी को  इस्तीफा भेज दिया है।

Join Our WhatsApp Group Join Now

                       प्रेस नोट जारी कर अजीत जोगी ने बताया कि 21 जून को ग्राम आवाज के द्वितीय चरण ठाठापुर में आयोजित किया जाएगा। ठीक इसी तारीख को भाजपा ने अपने मित्र संगठन कांग्रेस के सहयोग से मरवाही में कार्यक्रम करने का एलान किया है। इसके पीछे का उद्देश्य मुख्यमंत्री के क्षेत्र में होने वाले कार्यक्रम से जनता का ध्यान भटकाना है।

                    जोगी ने बताया कि मरवाही की जनता भाजपा की मित्र पार्टी के कार्यक्रम में सहयोग नहीं देने वाली। इसलिए कार्यक्रम को संभागीय स्तर का स्वरूप दिया गया है। भाड़े पर लोगों को इकट्ठा किया जायेगा। जोगी के अनुसार ठाठापुर में ग्राम आवाज कार्यक्रम से मुख्यमंत्री भयभीत हैं। तेरह वर्षों में पहली बार मुख्यमंत्री ने अपने गृृहग्राम रात्रि विश्राम किया। पंच सरपंचों को नई राजधानी घुमाने को कहा। सीएम ने तीस करोड़ रूपये खर्च करने का भी एलान किया है। 30 करोड़ की योजना का शुभारंभ कवर्धा, बेमेतरा जिले से ही किया जा रहा है। जोगी ने बताया कि ठाठापुर ग्राम आवाज में तीन हजार से अधिक लोग उपस्थित होंगे। 7 सूत्रीय प्रस्ताव को पारित किया जायेगा।

                   जोगी ने कहा कि नई पार्टी की घोषणा मात्र से छत्तीसगढ़ में लोगों में जिस प्रकार का उत्साह देखने को मिल रहा है उससे भाजपा और मित्र संगठन भयभीत है। छत्तीसगढ़ बदलाव की ओर अग्रसर है।प्रत्येक दिन हजारों की संख्या में नयी पार्टी के प्रति झुकाव देखने को मिल रहा है। लोकप्रियता से भाजपा और मित्र पार्टी भयभीत है। लेकिन मित्र संगठन को पेपरबाजी से फुर्सत नहीं है । उन्होंने बताया कि प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति पर तत्काल अंकुश लगाने की जरूरत है। अन्यथा इसका पुरजोर विरोध सड़क पर आकर किया जायेगा।

close