नक्सल प्रभावित जिलों की समीक्षा बैठक:सीएम ने दिये प्रधानमंत्री आवास-सौभाग्य योजना में तेजी के निर्देश

दंतेवाड़ा।मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने जिला मुख्यालय दंतेवाड़ा में नवनिर्मित संयुक्त जिला कार्यालय भवन में लोक सुराज अभियान के अंतर्गत नक्सल प्रभावित तीन जिलों – दक्षिण बस्तर (दंतेवाड़ा), सुकमा और बीजापुर के विभिन्न विभागों के अधिकारियों की संयुक्त बैठक ली। उन्होंने तीनों जिलों के विकास कार्यो की विस्तृत समीक्षा की। डॉ. सिंह ने अधिकारियों को प्रधानमंत्री आवास योजना में हितग्राहियों के मकान निर्माण और प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य) के तहत गांवों, मजरों-टोलों और घरों के विद्युतीकरण के कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए। डॉ. सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के लक्ष्यों को सितम्बर माह तक पूर्ण कर लिया जाए। उन्होंने प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य) के अंतर्गत लक्षित घरों में बिजली पहुंचाने के कार्य को नवंबर 2018 तक पूर्ण कराने के भी निर्देश दिये। बैठक में छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के मापदंडों के अंतर्गत दंतेवाड़ा एवं कुंआकोंडा विकासखंड में अप्रैल 2018 तक शत-प्रतिशत घरों को विद्युतीकृत कर लिया जाएगा। मई 2018 तक सुकमा विकासखंड के दो विकासखंड के शत प्रतिशत घरों को विद्युतीकृत करा लिया जाएगा।

इसी तरह सुकमा में विद्युत सब स्टेशन स्थापना का कार्य इस महीने के अंत तक और दोरनापाल में सब स्टेशन स्थापित करने का कार्य मई 2018 में पूरा करा लिया जाएगा। बीजापुर में विद्युत सब स्टेशन का निर्माण जून 2018 में पूर्ण करा लिया जाएगा। डॉ. सिंह ने प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत सितंबर 2018 तक रसोई गैस कनेक्शन दे दिए जाएं। दंतेवाड़ा कलेक्टर ने बताया कि सितंबर 2018 तक 24000 परिवारों को रसोई गैस कनेक्शन प्रदाय करने का कार्य पूर्ण करा लिया जाएगा। बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने पात्र हितग्राहियों का राशन कार्ड में नाम जोड़ने के भी निर्देश दिये। बैठक में सौर सुजला योेजना के अंतर्गत सिंचाई पंपो की स्थापना में तेजी लाने के निर्देश दिये गए। बैठक में बताया गया कि सौर सुजला योजना के अंतर्गत वर्ष 2017-18 में सुकमा जिले में 1293, बीजापुर जिले में 1029 एवं दंतेवाड़ा जिले में 944 पात्र हितग्राहियों के आवेदन प्राप्त हुए हैं जिसके निराकरण की कार्यवाही चल रही है।

मुख्यमंत्री ने श्रम विभाग की योजनाओं का दंतेवाड़ा, सुकमा और बीजापुर जिले में प्रभावी क्रियान्वयन करने के निर्देश दिए। उन्होने दंतेवाड़ा एवं बीजापुर जिले में दीनदयाल श्रम अन्न सहायता योजना के अंतर्गत पांच रूपये में भरपेट भोजन उपलब्ध कराने की व्यवस्था करने के निर्देश संबंधित कलेक्टरों को दिए। उन्होने दंतेवाड़ा, बीजापुर एवं सुकमा जिले में विशेष शिविर लगाकर असंगठित एवं निर्माणी श्रमिकों को श्रम विभाग की विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित करने कहा बैठक में दंतेवाड़ा, बीजापुर एवं सुकमा जिले के कलेक्टरों ने जिला खनिज न्यास योजना के अंतर्गत चल रहे कार्याें के बारे में प्रस्तुतिकरण भी दिया। बैठक में वन मंत्री महेश गागड़ा, पुलिस महानिदेशक ए.एन. उपाध्याय, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अमन कुमार ंिसह, प्रमुख सचिव गृह सुब्रमण्यम, मुख्यमंत्री के सचिव सुबोध सिंह, डीजी नक्सल ऑपरेशन डीएम अवस्थी, एडीजी अशोक जुनेजा समेत अधिकारीगण उपस्थित थे। विभिन्न विभागों के अनेक सचिव स्तरीय अधिकारी भी बैठक में मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *