नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव में निर्वाचक अभिकर्ताओं की व्यवस्था पहली बार, शिकायतों का होगा तुरंत निराकरण

नगर निगम चुनाव ,परिसीमन, प्रक्रिया, जारी, सत्ता पक्ष ,मनमानी, रोकने, बीजेपी,कमेटी,रायपुर,छत्तीसगढ़अम्बिकापुर।छत्तीसगढ़ राज्य निर्वाचन आयोग की सचिव सुश्री जिनेविवा किण्डो की अध्यक्षता में प्रदेश में आसन्न त्रिस्तरीय पंचायत एवं नागरीय निकाय निर्वाचन की तैयारियो के संबंध में आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में बैठक सम्पन्न हुआ। सुश्री किण्डो ने कहा कि प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत एवं नागरीय निकाय निर्वाचन को निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से सम्पन्न कराने के लिए निर्वाचन आयोग की तर्ज पर राजनीतिक दलों द्वारा निर्वाचक अभिकर्ताओं की नियुक्ति की जाएगी।उन्होंने कहा कि स्थानीय निर्वाचन में यह व्यवस्था राज्य में पहली बार किया जा रहा है। निर्वाचक अभिकर्ताओं की नियुक्ति होने से दलों से संबंधित शिकायतों का त्वरित निराकरण हो सकेगा।सुश्री किण्डो ने कहा कि निर्वाचक अभिकर्ता की नियुक्ति के संबंध में आयोग के निर्णय को अधिकारी सभी राजनीतिक दलों को अवगत कराएं। निर्वाचक अभिकर्ता नामावली तैयार करने के संबंध में संबंधित अधुकरियो को निर्देशित करें। उन्होंने कहा कि निकाय निर्वाचन के साथ ही पंचायतों के वार्डो के परिसीमन की कार्यवाही चल रही है। परिसीमन की पूरी तरह से सत्यापन कराएं और शासन के द्वारा जो निर्देश जारी किए गए है उनका अनुपालन करते हुए समय पर रिपोर्ट शासन को भेंजे।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप् ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए

वार्ड परिसीमन में कहीं-कहीं मतदाता दूसरे वार्ड में शिफ्ट हो गए है इस बात की जानकारी मतदाताओं को दें।उन्होंने कहा कि मतदाता सूची गंभीरता एवं संवेदनशीलता के साथ तैयार करें। नाम जोड़ने एवं विलोपन करने की कार्यवाही में नियमो का पुर्णतः पालन करें।

यह भी पढे-नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव में निर्वाचक अभिकर्ताओं की व्यवस्था पहली बार, शिकायतों का होगा तुरंत निराकरण

सुश्री किण्डो ने कहा कि मतदाताओं को अपने वार्ड के अनुसार मतदाता सूची में नाम की जानकारी हो इसके लिए हर रविवार को प्रत्येक वार्ड में मतदाता सूची का वाचन कराये। वाचन कर पंचनामा तैयार कराये जिससे कि मृत,अनुपस्थित,पलायन करने वाले मतदाताओं की जानकारी सही सही मिल सके ओर फर्जी मतदाता की पहचान हो सके। उन्होंने कहा कि मतफता सूची से नाम विलोपित करने की कार्यवाही बहुत ही संवेदनशील मामला है । इस पर पूरी सुनवाई करने के बाद ही कारवाही करे। उन्होंने कहा कि दावा आपत्ति प्राप्त करने के लिए निर्धारित स्थान की भी जानकारी मतदाताओं को हो ताकि समय पर अपनी आपत्ति दर्ज करा सकें। दावा अप्पति प्राप्त करने के स्थान की जानकारी सूचना पटल पर चस्पा करें।

उप सचिव एस आर वान्धे ने बताया कि निर्वाचन नियम 3( क) और 3( ख) में संशोधन किया गया है।3( क) के तहत अब यदि कोई निर्बाचक नामावली में गलत तरीके से नाम जोड़ने या वि बताया किलोपित करता है तो उसके विरूद्ध दांडिक कारवाही होगी वही नियम 3 ( ख) के तहत यदि कोई मतदाता नाम जोड़ने या विलोपित करने में गलत जानकारी देता है तो उसके खि़लाफ़ भी दाण्डिक कार्यवाही होगी। उन्होंने बताया कि स्थानीय निर्वाचन पारदर्शी तरीके से सम्पन्न कराने के लिए आयोग ने रोल आब्जर्वर की नियुक्ति का प्रावधान किया है।सभी स्तर पर सतत निगरानी के लिए निगरानी की प्रतिशत तय की है। उन्होंने कहा कि हर स्तर की निगरानी में कोई ढिलाई न बरतें।वान्धे ने बताया कि स्थानी निर्वाचन में मतदाओं को मतदान के प्रति जागरूक करने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने जाबो(जागव बोटर) अभियान की शुरुआत की है।उन्होंने कहा कि दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रो में मतदाता जागरूकता ज़कार्यक्रम का अधिक से अधिक आयोजन करें और आयोग के संदेश को पहुंचाएं।

प्रभारी कलेक्टर कुलदीप शर्मा ने कहा कि विधानसभा एवं1 लोकसभा में जिले में बहुत अच्छा मतदान प्रतिशत रहा है तथा पूरी टीम बेहतर ढंग से कार्य संपादित किया था। स्थानीय निर्वाचन में भी निर्वाचन आयुक्त के निर्देशों का अनुपालन करते हुए टीम वर्क के साथ निर्वाचन संपन्न कराया जाएगा। मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए मतदाता जागरूकता कार्यक्रम सतत रूप से चलाए जाएंगे।

मतदाता जागरूकता हेतु मानव श्रंृखला का निर्माण- बैठक के बाद कलेक्टोरेट परिसर में जाबो (जागव बोटर) के तहत मतदाताओं को जागरूक करने के लिए स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा निर्मित मानव श्रृंखला को शहर के विभिन्न मार्गो में भ्रमण हेतु रवाना किया गया।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...