हमार छ्त्तीसगढ़

नान घोटाला में अब एसीबी की लीपापोती

sn trivedi

रायपुर । नान घोटाले में 25 लोगो से राशि की जप्ती की गयी थी जिनमें से मात्र 17 लोगो के खिलाफ चालान प्रस्तुत किये जाने की अनुमति एसीबी द्वारा लिये जाने पर कांग्रेस ने इस बड़े घोटाले में आधी अधूरी कार्यवाही निरूपित किया है। पैसो को जिन रसूखदारों तक पहुंचता उनका पता लगाने और उन पर कार्यवाही की संभावना भी इस कार्यवाही के बाद समाप्त हो गयी है। 8 कर्मचारियों सहित आईएएस आफिसरों को छोड़ने वाली एसीबी इन घोटाले बाजों के राजनैतिक आकाओं पर क्या कार्यवाही कर पायेगी?

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और मीडिया विभाग के अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि पिछले 12 फरवरी  को नागरिक आपूर्ति निगम में एसीबी की ओर से छापे की कार्यवाही की गयी थी। उस समय एसीबी ने भ्रष्टाचार में जप्त राशि के स्रोतो का पता लगाने और जांच से आयकर विभाग को जोड़ने की बड़ी-बड़ी बातें की थी। नागरिक आपूर्ति निगम नान के घोटाले में भाजपा सरकार के बड़े रसूखदार लोगो का नाम आते ही एसीबी की जांच समिति की दिशा बदल गयी है। मामले को दबाने के लिये एसीबी लीपापोती में लग गयी है। नान घोटाला गरीब जनता के हक पर सीधे-सीधे डकैती है। इसे किसी भी कीमत पर दबाने नहीं दिया जायेगा। दोषियों पर कड़ी कार्यवाही होने तक कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी। कांग्रेस ने भाजपा सरकार की इस मंसूबे को कामयाब नहीं होने देने का निर्णय लिया है। घोटाले की तह तक जाकर कांग्रेसजन घोटाले को जनता के सामने लायेंगे। कांग्रेस ने अब जिला स्तर से पीडीएस और धान खरीदी के भ्रष्टाचार को बेनकाब करने का फैसला लिया है। इसलिये कांग्रेस को नागरिक आपूर्ति निगम एवं धान खरीदी उठाव घोटाले की जांच करने के लिये प्रत्येक जिलों में जिला स्तरीय समिति का गठन करना पड़ा है। कांग्रेस के विधायक, विधायक प्रत्याशी, जिला कांग्रेस अध्यक्ष, महिला कांग्रेस, युवक कांग्रेस, सेवादल, एनएसयुआई, मोर्चा संगठन के प्रकोश्ठ के पदाधिकारियों की जिलास्तरीय समिति पीडीएस और धान खरीदी के गोदामों तक जायेगी।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS