मेरा बिलासपुर

नायब तहसीलदार कोरोना पाजीटिव के बाद..नूतन कालोनी कन्टेनमेन्ट जोन.. कही..गंदगी बनेगा विस्फोट का कारण

बिलासपुर—- कोरोना पाजीटिव पाए जाने के बाद नूतन कालोनी स्थित नायब तहसीलदार के आस पास के क्षेत्र को प्रशासन ने कन्टेनमेन्ट जोन घोषित कर दिया है। गुरूवार को प्रशासन ने नायब तहसीलदार निवास स्थित आसपास के क्षेत्र को सेनेटाइज किया है। स्थानीय लोगों में भय का वातावरण है।बताते चलें कि एक दिन पहले नायब तहसीदार के कोरोना पाजीटिव पाए जाने के बाद प्रशासन में हड़कम्प है। गुरूवार को नायब तहसीलदार के निवास के आस पास के क्षेत्र को सेनेटाइज किया गया है। इसके अलावा करीब 100 मीटर के दायरे को कन्टेनमेन्ट जोन घोषित कर बेरिकेटिंग किया गया है।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

                   जानकारी देते चलें कि कोरोना पाजीटिव नायब तहसीलदार नूतनकालोनी में ही रहते हैं। कालोनी में चतुर्थ  श्रेणी से लेकर राजपत्रित अधिकारियों का निवास है। कुछ दूर जज कालोनी है। दूरदर्शन और आकाशवाणी भी है।

क्षेत्र में गंदगी का अंबार

     नूतन कालोनी में अलग अलग श्रेणी कर्मचारियों के लिए अलग अलग प्रकार के क्वार्टर है। यहां ई  टाइप से लेकर आई टाइप का सरकारी मकान है। सफाई व्यवस्था ठीक नही होने के कारण यहां कचरे का अम्बार है। 

               यदि ई और एफ टाइप के क्वार्टर को छोड़ दें तो किसी भी क्रवार्टर में टायलेट की टंकी नही है। कहने का मतलब है कि गंदगी सीधे टायलेट शीट से नाली में आता है। यहां से गंदगी आगे जाकर बड़ी नालियों में मिल जाती है। बदबू और गंदगी के चलते कर्मचारियों में बहुत समय से आक्रोश है। दो एक बार इस बात को लेकर शिकायत भी हुई। लेकिन मामले को गंभीरता से नहीं लिया गया। इसके बाद लोगों ने शिकायत करना भी बन्द कर दिया ।

एसईसीएलः 26 से मनाया जाएगा सतर्कता जागरूकता सप्ताह

गंदी नाली में पाइप लाइन से पेयजल की सप्लाई

            नूतन कालोनी के क्वार्टर आज से करीब 35 साल पहले बनाए गए हैं। जिस नाली से टायलेट का गंदा पानी बाहर आता है। उसी नाली से पेयजल पाइप लाइन घर तक पहुंचता है। पाइप लाइन भी 35 साल पुराना है। इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि साफ पानी के साथ नाली का गंदा पानी भी घर पहुंच रहा है। अब इन तमाम बातों को लेकर प्रशासन की चिंता बढ़ गयी है।

लोगों में डर और भय

             नायब तहसीलदार के कोरोना पाजीटिव पाए जाने के बाद अब कालोनी वासियों में चिंता और भय है। बताया जा रहा है कि लाकडाउन के बाद कई कर्मचारी परिवार बाहर से घर लौटे है। सभी लोग लाकडाउन के चलते फंस गए थे। लेकिन लौटने के बाद ज्यादातर लोगों ने खुद का चेकअप नहीं कराया । लोग इस बात को लेकर पहले से ही नाराज चल रहे थे। अब नायबतहसीलदार के कोरोना पाजीटिव जानकारी के बाद पेयजल सप्लाई और गंदगी को लेकर कालोनी वासियों की नाराजगी सामने आ रही है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS