हमार छ्त्तीसगढ़

नारायणपुर कलेक्टर ने लिया विभिन्न निर्माण कार्यों का जायजा,धीमी गति पर जतायी नाराजगी

नारायणपुर। कलेक्टर अभिजीत सिंह ने नारायणपुर जिले के नक्सल प्रभावित विकासखंड ओरछा में चल रहे विभिन्न निर्माण कार्यों की प्रगति का जायजा लिया। कलेक्टर आज सवेरे विकासखंड ओरछा पहुंचे, जहां उन्होंने नवनिर्मित छात्रावास भवन, तहसील कार्यालय, जी.ए.डी. कॉलोनी, हायर सेकंडरी स्कूल, अटल समरसता भवन आदि के निर्माण कार्यों का अवलोकन किया। निर्माण में उपयोग की जाने वाली सामग्रियों की गुणवत्ता भी देखी। उन्होंने निर्माण कार्याे की धीमी गति पर नाराजगी जताई और सम्बन्धित अधिकारियों को तेजी से पूरा करने के निर्देश दिए। साथ ही निर्माण कार्य में लगे श्रमिकों की संख्या में भी वृद्वि करने कहा ताकि निर्माण कार्याे को तेजी से पूरा कर सकें।कलेक्टर ने ओरछा के तहसील कार्यालय तथा जनपद पंचायत कार्यालय पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।सीजीवालडॉटकॉम के व्हात्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

उन्होंने कार्यालय में कर्मचारियांे के रिक्त एवं भरे पदों की जानकारी सहित उपस्थिति के बारे में भी पूछा। कलेक्टर ने तहसीलदार को निर्देशित किया कि पटवारी मुख्यालय में ही रहकर काम-काज करें। इसके साथ ही उन्होंने बिजली तथा पेयजल की जानकारी ली। मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री फागेश सिन्हा ने बताया कि बिजली और पानी की समस्या नही है। लेकिन तेज आंधी तूफान आने से बिजली जाने की समस्या रहती है। ओरछा क्षेत्र के लगभग सभी कार्यलयों में सोलर सिस्टम लागये गए हैं। जिसके माध्यम से बिजली की आपूर्ति की जाती है। 

कलेक्टर ने स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टर एवं कर्मचारियों के कार्याे की सराहना की
ओरछा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में आमजनों को मिलने वाली चिकित्सा सुविधाओं का जायजा लेने कलेक्टर श्री अभिजीत सिंह स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। उन्होंने यहां गंभीर और आकस्मिक चिकित्सा के लिए दिये जा रहे उपचार सेवाओं के अलावा आवश्यक होने पर कोरोना संक्रमण प्रभावित मरीज की उपचार की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। ईलाज के लिए भर्ती मरीजों से भी बातचीत की और उनका हालचाल जाना।  कलेक्टर ने पोषण पुर्नवास केन्द्र (एनआरसी) के निरीक्षण में देखा कि कुछ बेड खाली है, उसके संबंध में जानकारी ली। कलेक्टर ने कहा कि ईलाके के गंभीर और कुपोषित बच्चों को माताओं के साथ पोषण पुर्नवास केन्द्र (एनआरसी) लाया जाये और उन्हें गुणवत्तापूर्ण पौष्टिक आहार देकर सुपोषित किया जाये।

प्राचार्य प्रभार को लेकर नए आदेश से व्याख्याताओं के अधिकारों का हो रहा हनन...संजय शर्मा ने जताई आपत्ति

कलेक्टर ने स्टोर रूम का अवलोकन किया और दवाईयों की उपलब्धता देखी। उन्होंने निर्देशित किया कि जिन दवाई की जरूरत है, उसकी मांग पत्र तत्काल भेजें। इस मौके पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत ओरछा श्री फागेश सिन्हा, नायब तहसीलदार श्री केतन भोयर तथा विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी डी.बी.रावटे उपस्थित थे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS