नारीकीय जीवन को खुशियों की तलाश

10/29/2001 2:43 AMबिलासपुर—-बिलासपुर को भले ही आनेवाले दिनों में स्मार्ट सिटी बनाने की तैयारी शुरू कर दी गई हो लेकिन सच्चाई यह है कि स्मार्ट सिटी के लिए ना सिर्फ आधारभूत परिवर्तन बल्कि समाज का परिपक्व और संवेदनशील होना भी जरूरी है। अभी भी कई बार हमारे समाज में महिलाओं के प्रति क्रूर रवैया के कई ऐसे उदाहरण देखने को मिलते हैं जिसे देखकर भविष्य की संवेदनशील और सभ्य समाज की कल्पना करना भी बेमानी समझ में आती है।
                          शहर से लगे सीपत थाना क्षेत्र के देवरी गांव में दहेज प्रताड़ना का एक ऐसा ही सनसनीखेज मामला सामने आया हैष। दरअसल 13 साल पहले मुंगेली जिले के लोरमी की रहनेवाली योगेरी यादव की शादी देवरी निवासी मनोज यादव से हुई थी। शादी के बाद से ही योगेरी को दहेज के नाम पर उसके ससुरालवाले अलग अलग तरीकों से मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित करते रहे।
                                 अपने तीन बच्चों के साथ योगेरी का जीवन नारकीय हो गया था और आये दिन वह घरेलु प्रताड़ना की शिकार हो रही थी। योगेरी के मायके पक्ष के लोगों के मुताबिक अब जब योगेरी की जान पर बन आई थी और फिर ससुरालवाले लगातार अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे थे। ऐसे में पुलिस की सहायता लेने के अलावा उनके पास कोई चारा नहीं बचा था।
                               फिलहाल योगेरी अपने मायके में रह रही है और सीपत थाने में दहेज प्रताड़ना का अपराध कायम कर लिया गया है। पीड़िता और उसके भाई ने सीजी वाल से बताया कि वह सिर्फ न्याय चाहते हैं। दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई हो

Leave a Reply

Your email address will not be published.