मेरा बिलासपुर

ना गंदगी का भय… ना भालू की चिंता…

samman patra prapt hua (1)बिलासपुर—खुरपा सरपंच को प्रभारी मंत्री अजय चंद्राकर ने लोकसुराज अभियान में खुले शौच से मुक्त गांव बनाने के लिए सम्मानित किया है। सरपंच मुन्नी बाई करमल के प्रयास को मंत्री चंंद्राकर ने खुले दिल से स्वागत करते हुए सम्मान पत्र भी दिया है।

                        मरवाही विकासखण्ड के ग्राम खुरपा के सरपंच को गांव को खुले शौच से मुक्त बनाने के अभियान को जमकर सराहा है। मंत्री अजय चन्द्राकर ने मुन्नी बाई करमल को लोक सुराज अभियान के दौरान प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया है। जिले के दुरस्थ आदिवासी बाहुल्य विकासखण्ड मरवाही स्थित  खुरपा गांंव आदिवासी बाहुल्य है। गांव की आबादी मेंं 90 प्रतिशत भैना जनजाति का योगदान है।

                                  गाव में सरपंच महिला के अलावा महिला पंचों की संख्या सात है। खुरपा भालू के आंतक से प्रभावित हैं। भालू का हमला कब हो जाए किसी को अंदाज नहीं होता है। लोगों को शौच के लिए घर से बाहर जाने में हमेशा डर लगा रहता है। ग्रामीणों के लिए एक चुनौती से कम नहीं था। सरपंच और अन्य पंचों ने गांव वालों को प्रेरित कर घर- घर में शौचालय बनाए जाने का अभियान चलाया।

                   परिवारों की बालिकाओं को स्कूल में शिक्षकों ने भी गांव को स्वच्छ रखने और खुले में शौच नहीं करने के लिए प्रेरित किया। पंचायत और स्कूली बालिकाओं की जागरूकता के प्रयास को गांव का भी समर्थन मिला। गांव के अब सभी 191 घरों में शौचालय बना दिया गया है। ग्राम वासी दूसरे ग्राम के लोगों को भी स्वच्छता का पाछ पढ़ाने लगे हैं।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS