मेरा बिलासपुर

ना न्याय मिला और ना रहम की भीख

HIT AND RUN_VISUAL_2 002बिलासपुर—- दस दिन पहले सड़क हादसे में सिविल लाइन थाने के पास लापरवाही पूर्वक गाड़ी चलाते हुए एक कार मालिक ने दो लोगों के ऊपर गाड़ी चढ़ा दिया। जिससे दो लड़कों की घटना स्थल पर ही मौत हो गयी। घटना के 13 दिन बीतने के बाद भी अभी तक पुलिस कार्रवाई नहीं हुई है। पीड़ित के परिजनों ने आज पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करते हुए मृतक के परिजनों के लिए मुआवजा मांगा है।

                                मालूम हो कि 12 जुलाई को सिविल लाइन थाने के पास एक व्यापारी पुत्र ने लापरवाही पूर्वक एसयूवी चलाते हुए दो लोगों को रौंद दिया। जिसके चलते श्रीनिवास राव और शैलेन्द्र मिश्रा की घटना स्थल पर ही मौत हो गयी। दोनों एक ही जगह काम करते थे। पीछे से आकर तेज रफ्तार की गाड़ी ने उन्हें रौंद दिया। घटना के बाद कारचालक गाड़ी छोड़कर फरार हो गया। बाद में एक राहगीर की सहायता से दोनों को अस्पताल पहुंचाया गया। एक ने सिम्स में और दूसरे ने अपोलो अस्पताल में एक दिन बाद ही दम तोड़ दिया। चंद कदम दूर सिविल लाइन थाने में इसकी शिकायत भी गई बावजूद इसके आरोपी अभी भी पुलिस गिरफ्त से दूर है।

                      शैलेन्द्र मिश्रा के परिजनों ने बताया कि आरोपी को पुलिस बचाना चाहती है। शैलेन्द्र की दो पुत्रियां हैं उसके आगे पीछे कोई नहीं है। परिजनों ने बताया कि आज तक आरोपी को पकड़ना तो दूर उसे पकड़ने का प्रयास भी पुलिस ने नहीं किया है। परिजनों ने बताया कि आरोपी जिस गाड़ी को चला रहा था उसका मालिक राजकुमार वीरवानी है। शहर में उसका अच्छा प्रभाव है शायद इसलिए पुलिस उसके लड़के को गिरफ्तार नहीं कर रही है। मृतक की बहन और भाई ने पुलिस कप्तान से न्याय की गुहार लगाते हुए बच्चों के पालन पोषण के मांग की है। शैलेन्द्र मिश्रा के भाई ने बताया कि यदि उसे न्याय नहीं मिला तो वह शैलेन्द्र बेटियों को लेेकर एसपी कार्यालय के सामने धरना पर बैठेगा।

इन अस्पतालों में बुजुर्गों को लगाया जाएगा टीका..5 निजी हॉस्पिटल भी शामिल..पहले कराना होगा पंजीयन

               मृतक श्रीनिवास ऊर्फ टिकरापारा का रहने वाला है।जबकि शैलेन्द्र मिश्रा पुराना हाईकोर्ट के पास रहता था।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS