निगम चुनावः 5 वार्ड को लेकर हुई आधी रात बैठक..पेंच सुलझाने पहुंचे सीएम, पुुनिया और सिंहदेव..वार्ड 33 बना राजनीति का असली अखाड़ा

बिलासपुर—- रायपुर स्थित कांग्रेस कार्यालय राजीव गांधी भवन में दिग्गजों की बैठक शुरू हो गयी है। करीब 11 बजे मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया समेत केन्द्रीय निकाय चुनाव समिति के बड़े नेता उलझे पेंच को सुलझाने प्रयास कर रहे हैं। बैठक में बिलासपुर की पांच सीटों का निराकरण होना है। सूत्रों की मानें इस दौरान बिलासपुर के अन्य 10- 12 वार्डों पर भी चर्चा होगी। नाराज लोगों को मनाने का प्रयास किया जाएगा।

                    देर रात करीब 11 बजे के बाद राजीव गांधी भवन में प्रदेश कांग्रेस के दिग्गज नेताओं की बैठक शुरू हो गयी है।  बैठक में प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया,  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, मोहम्मद अखबर, पीसीसी प्रमुख मोहन मरकाम विशेष रूप से शामिल हैं। इसके अलावा धनेद्र् साहू और अन्य बड़े नेता भी फंसी पेंच को सुलझाने का प्रयास बन्द कमरे में कर रहे है।

                  अन्दर खाने से हासिल जानकारी के अनुसार बिलासपुर के अलावा अन्य जिलों की तमाम फंसी हुई सीटों का सभी नेता बातचीत से निराकरण कर रहे हैं। बिलासपुर की खासकर पांच सीटों पर भी चर्चा हुई है।

                    बताते चलें कि रायपुर में पिछले दो दिनों से बिलासपुर के करीब 29 वा्र्डों के उम्मीदवारों को लेकर चर्चा हुई। पिछली रात नेताओं ने दावा किया था कि 23 वार्डों की समस्या का निराकरण कर लिया गया है। लेकिन बुधवार को दोपहर बाद खबर मिली कि अभी 22 वार्डों को लेकर विवाद है। शाम तक कई दौर की बैठक के बाद सूत्र ने बताया 17 वार्डों की समस्या का निराकरण कर लिया गया है। लेकिन वार्ड 31,32,33,34 और 35 की पेंच को नहीं सुलझाय़ा जा सका है।

                   पेंच को सुलझाने देर शाम केन्द्रीय चुनाव समिति के नेता राजीव भवन में एकत्रित हुए।  सूत्रो ने बताया कि दिन में एक बार ऐसा लगा कि वार्ड 31 से तैय्यब का टिकट फायनल हो चुका है। लेकिन देर शाम तक विवाद जस का तस बना रहा । वार्ड क्रमांक 32 से तैय्यब की पत्नी और स्वप्निल शुक्ला की बहन आमने सामने हैं। इसी तरह सबसे विवादित वार्ड 33 और 34 को कई दौर की बैठक हुई। फिर भी मामले को नहीं सुलझाया जा सका। अब बैठक के बाद बी निर्णय होगा कि शैलेन्द्र जायसवाल और नरेन्द्र बोलर के बीच कौन 33 और क्रमांक 34 के चुनाव मैदान में दिखाई देगा। वार्ड 36 का भी फैसला होगा कि क्या पप्पू वाजपेयी को टीएस सिंहदेव की कृपा मिलती है। क्योंकि  अरविन्द शुक्ला ने36 से दावेदारी को वापस ले लिया है।

                       जानकारी के अनुसार कांग्रेस की बैठक कम से कम सुबह तक चलेगी। यानि फानल सूची गुरूवार को ही निकलेगी। यह भी बताया जा रहा है कि कुछ नेता गुरूवार को ही नामांकन दाखिल कर देंगे। लेकिन ज्यादातर नेता शुक्रवार को ही नामांकन भरेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *