निराश अजीत जोगी ने कहा..पत्नी रेणु ने तोड़ा भ्रम…मान अपमान उनकी जिम्मेदारी…राजनांदगाव से लडूंंगा चुनाव

बिलासपुर— मरवाही सदन में झण्डारोहण के बाद अजीत जोगी ने पत्रकारों से कहा..टूट गया भ्रम..मुझे विश्वास था कि रेणु जोगी हमारे साथ हैं। लेकिन चालिस साल के साथ के बाद भी उन्होने मेरा साथ नहीं दिया। यदि उन्हें कांग्रेस से टिकट नहीं मिली तो अपमान भी उनका है। फिर सोचूंगा कि उन्हें टिकट दिया जाए या नहीं। लेकिन मैं राजनांदगांव से चुनाव लडूंगा। जोगी ने कहा सैकड़ों उदाहरण है कि एक परिवार के लोग अलग अलग दलों में राजनीति किए हैं। रेणु जोगी के साथ नहीं मिलने का यह अर्थ नहीं है कि हम कमजोर हैं।

                                  अजीत जोगी ने मरवाही सदन में झण्डारोहण के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं के संदेश का वाचन किया। इसके बाद जोगी ने पत्रकारों से बातचीत की। उन्होंने प्रदेश में जनता कांग्रेस को भारी समर्थन का दावा किया।

         क्या चालिस साल का विश्वास टूटा है के सवाल पर अजीत जोगी ने कहा कि यह सच हैं कि मैने दावा किया था कि रेणु जोगी हमारे साथ पार्टी में रहेंगी। लेकिन मेरा सारा भ्रम टूट गया। निश्चित रूप से ठीक नहीं है। लेकिन में उन्हें मनाने में कामयाब नहीं हो पाया। क्या रेणु जोगी की दावेदारी को कांग्रेस गंभीरता से लेगी..सवाल के जवाब में जोगी ने कहा कि दावेदारी को गंभीरता लिया जाता है या नहीं हमारी समस्या नहीं है। रेणु जोगी को टिकट नहीं मिलने और अपमान की स्थिति पर जोगी ने कहा..इस पर जनता कांग्रेस फिर विचार करेगी। और रेणु जोगी को भी विचार करना होगा।

                                 जब घर के लोग पार्टी से दूर हैं..भ्रम टूटने की बात सामने आ रही है। पार्टी में आयाराम गयाराम की स्थिति है। इसका असर कार्यकर्ताओं पर कितना होगा। जोगी ने कहा कोई असर नहीं होगा। कार्यकर्ताओं में भारी उत्साह है। रेणु जोगी का पार्टी से कोई संबध नहीं है। उन्हें आना हो आएं और नहीं आना है मत आए। पार्टी में आयाराम गयाराम की स्थिति नहीं है। पार्टी लगातार मजबूत हो रही है।

  रेणु जोगी को मनाने में कामयाब क्यों नहीं हो सके..क्या उन्हें जनता कांग्रेस के सिध्दान्तों पर विश्वास नहीं है। क्या आपकी हार नहीं हुई। इसका असर कार्यकर्ता और जनता पर कितना पड़ेदगा। जोगी ने कहा..क्या करूं नहीं मना पाया। रेणु जोगी ने मेरा भ्रम तोड़ दिया। लेकिन जनता का विश्वास पार्टी के साथ है। रेणु जोगी का भ्रम टूटेगा तो पार्टी जरूर विचार करेंगी।

               कहां से लड़ेंगे चुनाव, मरवाही या राजनांदगांव से …जोगी ने कहा मैं राजनांदगांव से ही चुनाव लड़ूंगा। परिवार से केवल दो लोग ही लड़ेंगे। लेकिन उन्होने यह नहीं बताया कि चुनाव लड़ने वाले अलग अलग पार्टी से होंगे या एक ही पार्टी से। जोगी ने बताया ऋचा जोगी राजनांदगांव में पार्टी का काम देख रही हैं।

                  झण्डारोहण और बातचीत के दौरान अनिल टाह,ज्वालाप्रसाद चतुर्वेदी, समीर अहमद, जीतू ठाकुर,मालिकराम डहरिया समेत पार्टी के वरिष्ठ और युवा कार्यकर्ता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *