नोटबंदी से निगम को करोंड़ों का राजस्व

IMG-20161112-WA0164बिलासपुर—24 नवम्बर के बाद हजार और पांच सौ के नोट पूरी तरह कागज का टुकड़ा साबित हो जाएगा। पुराने नोट को खपाने आज नगर निगम,सेल्स टैक्स, बिजली विभाग में भीड़ देखने को मिली। लोग पुराने नोटों से लोगों ने बिल का भुगतान किया। मालूम हो कि सरकार ने 24 नवम्बर के बाद  महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर पुराने नोट से भुगतान करने की छूट दी थी। आज के बाद पुराने नोट बाजार में नहीं चलेंगे। केवल बैंक,पोस्टआफिस में एक्सचेंज के अलावा पुराने नोटों को जमा किया जाएगा।

                           आज के बाद हजार और पांच सौ के पुराने नोट बाजार में पूरी तरह से प्रतिबंधित हो जाएगा। नोटबंदी अभियान के बाद सरकार ने कुछ निर्देशित स्थानों पर 24 नवम्बर तक पुराने नोट चलाने का एलान किया था। 24 नवम्बर के बाद हजार और पांच सौ के नोट रेलवे टिकट,अस्पताल,बिजली कार्यालय,पेट्रोल पंप,अस्पतालो में भी नहीं लिए जाएंगे।

                                  अंतिम तारीख को लोगों की लम्बी लाइन बिजली विभाग,अस्पताल और निगम कार्यालय में देखने को मिली। लोगो ने पुराने नोटों से  जलकर,बिजली कर पटाया।

               निगम जल विभाग अधिकारी अजय श्रीवासन ने बताया कि नोटबंदी अभियान के बाद निगम को करोंड़ों रूपए का राजस्व मिला है। वार्डों में शिविर लगाकर जलकर,बिजलीकर वसूला गया। करदाताओं ने निगम कार्यालय पहुंचकर पुराने नोटो से बिल का भुगतान किया।

                      अंतिम तारीख होने के कारण नोट बदलवाने कुछ बैंकों में लम्बी कतार देखने को मिली।  स्टेट बैंक अधिकारी ने बताया कि आज के बाद पुराने नोट केवल खाताधारकों के खातों में ही जमा किए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *