पटाखा बाजार में बढ़ी रौनक,मिशन मंगल की धूम, और भी हैं कई फैंसी पटाखे

बिलासपुर। बिलासपुर में फटाके का बाजार सज़ा हुआ है,पर मौसम की वजह से व्यापारी सहमे हुए है। चक्रवात के असर से हुई बारिश ने मौसम को सुहाना कर दिया है। इस बदले हुए मौसम ने दीपावली के बाजार की रौनक कम कर दी है। हालाकि की चक्रवात का असर लगभग खत्म हो गया है। मौसम विभाग ने प्रदेश के सभी जिलों में आने वाले 48 घंटों में प्रदेश के कई इलाकों में भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग ने रायपुर, बालोद, धमतरी, कांकेर, रायगढ़, बस्तर, सरगुजा, महासमुंद, राजनांदगांव, जांजगीर, गरियाबंद और बलरामपुर में येलो अलर्ट जारी किया है।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

बिलासपुर फटाका व्यापारी संघ के सचिव मनोज देवांगन ने बताया कि बारिश और मौसम के असर से व्यापारियों के जोश में कोई कमी नही आई है। मौसम धीरे धीरे साफ हो रहा है। इस बार सामान्य फटाके ज्यादा महंगे नही हुए हैं। इस लिए ग्राहकों की जेब पर ज्यादा असर नहीं होगा।

फटाका व्यापारी ने चर्चा में बताया कि अब पारम्परिक फाटकों के बजाय फैंसी फाटके ज्यादा आ रहे है। इस बार भी बहुत से फैंसी पटाखे आये है। इस बार पिंजरों कलर अनार, बटर फ्लाई, रंगीन माचिस, टोंग एंड वार, सेल्फी स्टीक लाइट, गो एयर रॉकेट, पॉप कार्न, हाय हाय, ड्रोन, इस बार किंडर जॉय , रंभा डांस, बैन टेन हाथ गोला, पाप पाप , माचिस बम, कलर स्मोक, किंग कांग, जैसे पटाखे ज्यादा बिकने की उम्मीद है

फटाका बाजार घूमने पर यह अहसास होता है कि इन बार मिशन मंगल का असर फाटकों में दिखाई से रहा है। कई रॉकेट और दूसरे पटाखों में में स्पेस शिप की तस्वीर है।टीम टीम टू इन वन,स्काई शॉट वार जोन, गोल्डन स्काई, फाइव इन वन,किट कैट स्काई किंग जैसे कई नाम दिखाई देते है।

बिलासपुर के गांधी चौक स्थित गवर्नमेंट स्कूल में इस बार 97 दुकान लगी है पिछली बार से इस बार 10 दुकान कम लगी है। जिसके पीछे वजह शहर के बीच मे अवैध रूप से बिना लाइसेंस के बिक्री होने की वजह लाइसेंसी दुकानदारों को हो रहा नुकसान बताते है।

बिलासपुर में कई लोग अब शनिचरी बाजार या चांटीडीह में खुले आम भीड़ भाड़ के बीच पटाखे बेच रहे है।जो कि किसी बड़ी दुर्घटना की आंशका को जन्म देती है। प्रशासन से इस बारे में संज्ञान लेना चाहिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *