मेरा बिलासपुर

परामर्श के बाद शराबबन्दी का फैसला…CM ने कहा…नोटबंदी की तरह नहीं..बनाएंगे पर्यटन सर्कल…विधानसभा में करेंगे एलान

बिलासपुर—बिल्हा विधानसभा क्षेत्र के एतिहासिक और प्राचीन देवरानी जेठानी मंदिर पहुंचकर सीएम भूपेश ने तीन दिवसीय महोत्सव में शिरकत किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री ने भगवान रूद्रशिव का दर्शन किया। फोटो भी खींचा। मंदिर प्रांगड़ में तीन दिवसीय ताला महोत्सव का मुख्य अतिथि भूपेश ने दीप प्रज्वलित कर तीन दिवसीय मेला का शुभारंभ किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता बिल्हा विधानसभा रहे कांग्रेस प्रत्याशी राजेन्द्र शुक्ला ने किया। मंच पर  कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव, जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी विशेष रूप से मौजूद थे। राजेन्द्र शुक्ला ने मुख्यमंत्री का शाल और श्रीफल के साथ स्वागत किया।
ताला को पर्यटन स्थल बनाने की मांग
             हजारो की संख्या में मौजूद भीड़ को सीएम ने संबोधित किया। इसके पहले राजेन्द्र शुक्ला ने कार्यक्रम में होने पर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री के प्रति धन्यवाद जाहिर किया। मंचासीन सभी अतिथियों के अभिनन्दन के बाद मुख्यमंत्री को प्राचीन रूद्रशिव भगवान की रूद्रशिव की मूर्ति 5 वी शताब्दी की है। विडंबना ये है कि मूर्ति और मंदिर का सही तरीके से आज तक रख रखाव नहीं किया गया। पर्यटन स्थल घोषित नही होने के कारण लोगों को इस एतिहासिक स्थल की जानकारी भी नहीं है।  राजेन्द्र शुक्ला ने सीएम से निवेदन किया कि सरकार ताला मंदिर को पर्यटक स्थल में शामिल करे।  बाहर से आने जाने वाले पर्यटकों के रुकने के लिए विश्राम गृह की कमी को दूर किया जाा। इसके अलावा बिल्हा विधानसभा के ग्राम देवकिरारी में भगवान धूमकेतु  का पुरातात्विक मूर्ति है। यदि देवकिरारी को पुरातात्विक स्थल घोषित किया जाए तो बिलासपुर का भी नाम पर्यटन स्थल में प्रमुखता से लिया जाएगा। पर्यटकों के लिए सिटी बस का संचालन भोजपुरी,अमेरिकापा,ताला,होते हुए ग्राम दगौरी तक करने से ताला मंदिर अहमियत बढ़ जाएगी। राजेन्द्र ने सीएम से निवेदन किया कि बिल्हा विधानसभा से होकर गुजरने वाली शिवनाथ नदी के गुड़ाघाट के पास भाटापारा विधानसभा को जोड़ने के लिए पुल बनाया जाए। इससे कई गांव का ना केवल विकास होगा बल्कि लोगों को होने वाली परेशानियों से छुटकारा भी मिलेगा।
जनसेवा ही नई सरकार की प्राथमिकता
                       मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भगवान रूद्रशिव का जयकारा लगा कर कार्यक्रम में आमंत्रित करने के लिए सिद्धनाथ सेवा आश्रम समिति और राजेन्द्र शुक्ल की जमकर तारीफ की। सीएम ने कहा यहां आकर मैं अपने आपको धन्य समझ रहा हूं। अपने भाषण में सीएम ने कहा कि नई सरकार को दो तिहाई बहुतमत से जीत देने वाली जनता को नमन् करता हूं। जनसेवा ही नई सरकार की प्राथमिकता है। उन्होने कहा कि हम सबकी जिम्मेदारी बनती है कि नरवा घुरवा गरुवा अउ बारी की परम्परा को ना केवल जीवित रखना है। बल्कि मजबूती के साथ इसका विकास भी करना है।
ग्रामीणों से सीएम का संवाद
                                        सीएम ने कहा कि सरकार बनने के मात्र दो महीने के भीतर कर्जमाफ कर दिया गया। धान का समर्थन मूल्य 2500 रूपये प्रति क्विंटल कर दिया गया। इस दौरान भूपेश ने जनता से सीधे संवाद कर पूछा कि क्या इसका लाभ आप लोगों को मिला की नहीं। उपस्थित हजारों की संख्या में ग्रामीण और किसानों  एक सुर में सीएम का जयकारा लगाया। उपस्थित किसानों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जिन्दाबाद किसान हितैषी कांग्रेस सरकार जिन्दाबाद के नारे लगाकर स्वागत किया।
शराबबंदी बनाम नोटबंदी पर चुटकी
            मंच से प्रदेश के मुखिया ने आश्वासन दिया कि शराबबंदी के लिए सभी का राय लेने के बाद ही निर्णय लिया जाएगा। सीएम ने चुटकी लेते हुए कहा कि लेकिन निर्णय नोटबंदी की तरह नहीं लिया जाएगा। इसके लिए सभी समाज के प्रमुख जन और शासन-प्रशासन के साथ बैठकर समिति का गठन होगा। सीएम ने कहा कि छत्तीसगढ़ में बाहर से आने-जाने वाले पर्यटकों के लिए पर्यटन स्थल सर्कल बनाएंगे। लेकिन राजेन्द्र शुक्ला की मांगो को विधानसभा में घोषणा करेंगे।
                 कार्यक्रम के अंत में राजेन्द्र शुक्ला और सिद्धनाथ सेवा समिति आश्रम ने मुख्यमंत्री महोदय जी को स्मृति चिन्ह श्रीफल शॉल भेंट किया। ताला मेला में प्रशासन के नरवा,घुरवा,गरुवा,और बारी का मॉडल का सीएम ने अवलोकन किया। खुश होकर सीएम ने राजेन्द्र की पीठ थपथपाई।

संसद में महिला नेत्रियों से अभद्र व्यवहार..भाजपा का जलाएंगे पुतला..नायक ने कहा..खुल गयी पोल ..सामने आया असली चेहरा
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS