पांच सदस्यीय टीम करेगी जांच…नसबंदी पीड़ितों से मिले विधायक लहरिया..

IMG-20170819-WA0650बिलासपुर—- कांग्रेस विधायक दिलीप लहरिया ने कहा कि मस्तूरी में नसबंदी आॅपरेशन के बाद महिलाओं की तबीयत में सुधार नहीं हो रहा है। घटना की जानकारी के बाद भी जिला प्रशासन और स्वास्थ महकमा गंभीर नहीं हैं। चिंता का विषय हैं….। प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने मस्तूरी नसबंदी मामले में पांच सदस्यीय जांच टीम का गठन किया है।

                    मस्तूरी विधायक दिलीप लहारिया ब्लाॅक कांग्रेस अध्यक्ष विरेन्द्र शर्मा, जनपद सदस्य शंकर यादव के साथ नसबंदी पीड़ित परिवारजनों से मुलाकात की। जरूरी सहायता के लिए अधिकारीयों को निर्देश दिया। दिलीप लहारिया ने कहा कि जिले में देश का सबसे बड़ा नसबंदी कांड हुआ था। 15 से ज्यादा महिलाओं की मौत अभी लोगों को याद है। स्वास्थ्य महाकमा घटना से सबक लेने की बजाय उसी ढर्रे पर काम कर रहा हैं।

                                      लहरिया ने बताया कि पीडितों से मिली जानकारी के अनुसार नसबंदी के समय बिजली नहीं थी। डाॅक्टर ने मोबाईल की रोशनी में आॅपरेशन कर किया। आॅपरेशन के बाद गलत तरीके से टांका लगाया गया। जिसके कारण तबीयत बिगडी है।

              विधायक ने कहा सरकार से मांग करेंगे कि पीड़ितों की इलाज बड़े नीजी अस्पताल में कराया जाए। घटना को लेकर कांग्रेस नेता प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव, जिला अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला, संभागीय प्रवक्ता अभय नारायण राय, ब्लाॅक अध्यक्ष विरेन्द्र शर्मा, घटना के लिए सरकार को दोषी ठहराया है।

                    अभय नारायण राय ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने पांच सदस्यी जाॅच कमेटी का गठन किया है। कमेटी की अध्यक्ष प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष फूलो देवी नेताम होंगी। कमेटी में उषा रंजन श्रीवास्तव, बिलासपुर प्रभारी , आशा चैहान प्रदेश उपाध्यक्ष महिला कांग्रेस , माया रानी सिंह महासचिव महिला कांग्रेस, सीमा पाण्डेय शहर अध्यक्ष , अनिता लवरात्रे ग्रामीण अध्यक्ष को शामिल किया गया है। जाॅच कामेटी 22 अगस्त को मस्तूरी पहुंचकर अस्पताल का निरीक्षण करेंगी। पीडितों और परिवार से मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *