मेरा बिलासपुर

पीड़िता ने लगाया जिला शिक्षा अधिकारी पर आरोप

PREM_CHAKKAR_VISUAL 003 बिलासपुर— कोनी थाना में आज अजीबो गरीब मामला सामने आया है। एक महीने पहले कोनी में जांजगीर से एक बारात आयी। बारात को लड़की ने ही वापिस कर दिया था। लड़की का आरोप था कि जिस लड़के के साथ उसकी शादी होने वाली है वह किसी दूसरी लड़की से प्रेम करता है। आज एक महीने बाद सुरभि मिश्रा ने कोनी थाना पहुंचकर शिकायत दर्ज करवाई है कि जिस लड़के के साथ उसकी सगाई हुई थी। उसका परिवार हमारे परिवार को शर्तों के अनुसार ना तो गहने लौटाए है और ना ही नगद ही वापिस किया है। लड़की ने अपनी शिकायत में लड़का महीप उपाध्याय और उसके पिता रामचन्द्र उपाध्याय समेत जिला शिक्षा अधिकारी बिलासपुर हेमन्त उपाध्याय पर शादी तोड़ने और परिवार को प्रताडित करने का आरोप लगाया है।

                   एक महीने पहले कोनी में एक बारात को लड़की ने वापिस कर दिया था। लड़की ने आरोप लगाया था कि लड़के का किसी लड़की से प्रेम संबध है। उसका आज खुलासा करते हुए सुरभि मिश्रा ने बताया कि इस पूरे घटनाक्रम में जिला शिक्षा अधिकारी हेमन्त उपाध्याय और महीप उपाध्याय का पिता रामचन्द्र उपाध्याय की भूमिका अहम है। सुरभि मिश्रा ने आज कोनी थाना पहुंचकर रामचन्द्र उपाध्याय और जिस लड़के के साथ उसकी सगाई हुई थी के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है।

                         सुरभि मिश्रा ने बताया कि जून में उसकी शादी होने वाली थी। ठीक बारात से एक दिन पहले दो लड़कियां मेरे घर आयी जिनका नाम पूजा ठाकुर और हेमलता मल्होत्रा है। दोनों में से एक ने बताया कि महीप से उसके पुराने संबध हैं। इसलिए तुम उससे शादी मत करो। इसके बाद भी यदि तुम शादी करोगी तो हम बारात के सामने ही आत्महत्या कर लेगें। इसके बाद सुरभि के पिता ने महीप के पिता रामचन्द्र उपाध्याय को फोन कर सारी जानकारी दी। रामचन्द्र ने बताया कि जो लड़की वहां पहुंची वह मानसिक रूप से बीमार है। मै बारात लेकर आउंगा आप तैयारी करें। सब कुछ ठीक हो जाएगा।

देखे VIDEO-महानदी के मंथन में आबकारी टीम को मिला शराब..6000 किलोग्राम लहान..सैकड़ों लीटर मदिरा बरामद,अजीब कार्रवाई से कोचियों में दहशत

                     लड़की के पिता ने बताया कि ठीक तारीख को बारात आयी इसी दौरान वह लड़की भी आ गयी जिसने शिकायत की थी। हमने इस स्थित को देखते ही शादी करने से इंकार कर दिया। इसके बाद लड़के का रिश्तेदार बिलासपुर जिला शिक्षा अधिकारी हेमन्त उपाध्याय और पिता रामचन्द्र उपाध्याय ने मध्यस्थता करते हुए कहा कि बारात वापस लौटा लेते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि लड़की के पिता ने जो कुछ भी दिया है उसे वापस कर दिया जाएगा।

                   11 जून को लड़के वालों ने थाने में रिपोर्ट लिखाया आई जी शिकायत की है कि लड़की वाले उसे धमकी दे रहे हैं। लड़की के पिता ने बताया कि हमने ऐसा कोई दबाव नहीं बनाया। उल्टे उन्होंने हमारा पचास चांदी का सिक्का 6 लाख रूपए और सोने चांदी के गहने भी वापिस नहीं किये हैं। उन्होने पुराने वर्तन जरूर वापिस किये हैं जो हमारा है ही नहीं।

                         आज पीड़ित लड़की सुरभि ने कोनी थाने में रिपोर्ट लिखाया है कि मेरी शादी को तोड़ने में महीप उपाध्याय उसका पिता भाई और मां समेत जिला शिक्षाअधिकारी हेमन्त उपाध्याय सीधे- सीधे जिम्मेदार हैं। मेरी मानसिक स्थिति भी ठीक नहीं है। हमारा रकम भी वापस नहीं किया गया है। ऐसी स्थिति में यदि मेरे साथ कुछ होता है तो इन लोगों के साथ पुलिस विभाग जिम्मेदार होगी।

मेरा जीवन बरबाद हो गया

         हम धन से भी गए और धरम से भी। हमें उल्टा फंसाया जा रहा है। मेरी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। हम पर दबाब बनाकर प्रताड़ित किया जा रहा है। इसमें महीप उपाध्याय,उसका पिता,मां,भाई और हेमन्त उपाध्याय का प्रमुख है। मुझे न्याय चाहिए

पुख्ता इंतजाम के बीच रायपुर पहुंचे हजारों शिक्षाकर्मी...नही टूटा हौसला...कहा 6 दिन बाद करेंगे रायपुर कूच

                                                                                                                          सुरभि मिश्रा..पीड़ित लड़की

बेटी की मानसिक स्थित ठीक नहीं

           बेटी की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। अब भलमानसाहत बहुत हो गयी। हेमन्त उपाध्याय ने ही मध्यस्थता करवाया था। मेरी बेटी आत्महत्या कर सकती है। आज हमने भी शिकायत किया है। यदि कार्रवाई नहीं होगी तो मै बेटी के साथ आत्महत्या कर लूंगा।

                                                                                                                           पीड़ित बेटी का पिता

जांच के बाद होगा खुलासा

           मामला पुराना हो चुका है। जांच के बाद ही खुलासा होगा। इतने समय तक ये लोग क्या करे थे। पहले क्यों नहीं आए। अब इस मामले में जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। जानकारी के अनुसार लड़के पक्ष के लोगों ने भी रिपोर्ट दर्ज करवाया है।

                                                                                                        अशोक दीवान— थाना प्रभारी…कोनी पुलिस स्टेशन            

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS