पीसीसी कार्यकारिणी की पहली बैठक में पुलिसिया लाठी चार्ज के खिलाफ निंदा प्रस्ताव, 22 को मोदी को दिखाएंगे काला झंडा

बिलासपुर । बिलासपुर में चल रही छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कार्याकारिणी की पहली बैठक में भी कांग्रेस भवन में  हुए पुलिसिया लाठी चार्ज का मुद्दा छाया हुआ है। कार्यकारिणी ने लाठी चार्ज को लेकर निंदा प्रस्ताव पारित किया है। साथ ही  22 सितंबर के छत्तीसगढ़ आ रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  को  इस घटना के विरोध में  काला झंडा दिखाने का फैसला किया गया है।

बिलासपुर के टिकरापारा स्थित गुजराती भवन में गुरूवार को छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी की नवगठित कार्यकारिणी की बैठक शुरू हुई। जिसमें नवगठित कार्यकारिणी के पदाधिकारियों – सदस्यों के साथ ही कई दिग्गज नेता शामिल हैं। बैठक की शुरूआत में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने नवनियुक्त कार्यकारिणी का स्वागत किया ।  उन्होने कहा कि सबको मिलकर बड़ी जिम्मेदारी निभानी है। इसके बाद पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. चरण दास महंत ने  बिलासपुर कांग्रेस भवन  के भीतर घुसकर पुलिस द्वारा किए गए बर्बर लाठी चार्ज की घटना पर निंदा प्रस्ताव पेश किया गया । निंदा प्रस्ताव पारित करते हुए सभी ने पुलिस के इस कृत्य की जमकर आलोचना की। कांग्रेस ने इस मामले में प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल से इस्तीफें की मांग की है। साथ ही तय किया गया है कि  22 सितंबर को छत्तीसगढ़ के दौरे पर आ रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को इस घटना के विरोध में काला झंडा दिखाया जाएगा।

बैठक में अकिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया , चंदन यादव, डॉ. चरणदास महंत,टी.एस.सिंहदेव, करुणा शुक्ला, रामदयाल उइके, डॉ.शिव डहरिया, रविन्द्र चौबे सहित कार्यकारिणी के पदाधिकारी और सदस्य शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *