मेरा बिलासपुर

पीसीसी महामंत्री पर भाजपाइयों का हमला…कहा…कांग्रेस नेता को बनाएं नसबन्दी का सहआरोपी…

IMG_1442 IMG_1452बिलासपुर— अच्छी खासी संख्या में आज भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने कलेक्टर,पुलिस अधीक्षक और आईजी कार्यालय का घेराव किया। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने प्रशासनिक अधिकारियों से पीसीसी महामंत्री को नसबंदी काण्ड में सह-आरोपी बनाने की मांग की। भाजपाइयों ने कहा कि कन्ट्री क्लब से राकेश खरे की गिरफ्तारी के बाद मामला साफ हो गया है। अटल श्रीवास्तव ने फरार आरोपी को संरक्षण दिया। दस्तावेजों से जाहिर हो चुका है कि राकेश खरे और अटल श्रीवास्तव व्यावसायिक दोस्त हैं। यही कारण है कि राकेश खरे को पीसीसी महामंत्री ने अपने हॉटल में संरक्षण दिया।

         भारी संख्या में आज भाजपाइयों ने कलेक्टर,पुलिस अधीक्षक और महानिरीक्षक रेंज से मिलकर अटल श्रीवास्तव की गिरफ्तारी की मांग की है। भाजपा नेताओं ने एसपी आईजी और कलेक्टर को बताया कि राकेश खरे दो साल से आंख में धूल झोंककर फरार था। राकेश खरे नसबंदी का आरोपी है। उसी फर्म से निकली दवा खाने से 13 महिलाओं की असमय मौत हो गयी। आरोपी को पुलिस लगातार तलाश रही थी। एडिश्नल एसपी नीरज चन्द्राकर और उनकी टीम ने राकेश खरे को कन्ट्री क्लब से हिरासत में लिया।बताया जा रहा है कि राकेश जिस कमरे में छिपा था वह पीसीसी महामंत्री का निजी कमरा था।

                                   मनीष अग्रवाल, महेश चन्द्रिकापुरे, दस्तगीर भाभा, प्रवीण सेन समेत सभी भाजपा नेताओं ने कहा आरोपी को मदद करने वाला भी उतना ही गुनहगार होता है जितना आरोपी होता है। गिऱफ्तारी के बाद अटल श्रीवास्तव ने पत्रकारों से कहा था कि राकेश खऱे से उनका किसी प्रकार का व्यावसायिक संबध नहीं है। कन्ट्री क्लब में राकेश ठहरा था इसकी भी उन्हें जानकारी नहीं है। भाजपाइयों के अनुसार अटल ने राकेश खरे से रोटरी क्लब से पहचान बताया था। मनीष ने कहा कि अटल ने पत्रकारों के सामने दावा किया था कि राकेश की गिरफ्तारी उनके हॉटल से नहीं हुई है। दरअसल बिलासपुर की पुलिस सरकार के इशारे पर काम कर रही है। उनके पास पुख्ता प्रमाण  है। जल्दी ही प्रेस वार्ता में इसका खुलासा करेंगे। भाजपा नेता ने कहा कि यदि अटल के पास झूठी गिरफ्तारी का दस्तावेज या प्रमाण था उन्होंने अभी तक पेश क्यों नहीं किया।

Bilaspur-जिला पंचायत आगजनी की जांच के लिए कमेटी गठित, तीन दिन के भीतर होगा नुकसान का आकलन

                            भाजपा नेताओं ने पत्रकारों को बताया कि हमने जिला प्रशासन को प्रमाण समेत अटल श्रीवास्तव और राकेश खरे के बीच व्यावसायिक संबधों वाला दस्तावेज सौंप दिया है। दस्तावेज से जाहिर हो चुका है कि दोनों मिलकर जमीन खरीद फरोख्त का काम करते हैं। मनीष ने बताया कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने जिला प्रशासन से अटल की गिरफ्तारी की मांग की है। पुलिस कप्तान,आईजी से कहा है कि राकेश खरे के साथ पीसीसी महामंत्री को नसबंदी काण्ड में सह आरोपी बनाकर गिरफ्तार किया जाए।

अटल के खिलाफ एसपी,आईजी और कलेक्टर कार्यालय में विरोध प्रदर्शन करने वालों में विशेष रूप से एल्डरमैन मनीष अग्रवाल,दस्तगीर भाभा,प्रवीण सेन,महेश चन्द्रिकापुरे,केशरवानी समेत दर्जनों भाजपा नेता शामिल थे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS