मेरा बिलासपुर

पुलिस कप्तान ने किया हनी ट्रैप का खुलासा..सागर में पकड़ाया मास्टर माइंड..2 महिला समेत आधा दर्जन आरोपी गिरफ्तार..आरक्षक भी शामिल

बिलासपुर— बिलासपुर पुलिस कप्तान ने बिलासागुड़ी में हनी ट्रैप जैसे मामले का खुलासा किया है। पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल ने पत्रकारों को बताया कि मामले में कुल आधा दर्जन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। मास्टर माइंड मुकेश कुर्मी को सागर में पकड़ा गया है। मास्टर माइंड को पुलिस बिलासपुर लेकर पहुंचने वाली है।  मामले में आरोपी आरक्षक को भी गिरफ्तार किया गया है।

         पुलिस कप्तान पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल ने आज बिलासागुड़ी में हनी ट्रैप जैसे एक मामले का खुलासा किया है। पुलिस कप्तान ने बताया कि छह महीने पहले पीड़डिता व्यक्ति को मोबाइल पर मुकेश शर्मा का फोन आया। उसने बताया कि एक लड़की बात करना चाहती है। उसने लड़की का मोबाइल नम्बर भी दिया। पीड़ित ने लड़की को फोन किया। लड़की ने बताया कि वह बिलासपुर से बाहर है कल मुलाकात करेगी। दूसरे दिन पीड़ित को  लड़की ने फोन कर सरकंडा स्थित एक निर्माणाधीन घर में बुलाया। पीड़ित जैसे ही बताए गए घर अन्दर घुसा। और दोनों ने कपड़ा उतारा..इसी बीच एक दो व्यक्ति दरवाजा खोलकर पुलिस वर्दी में दाखिल हुए। और वीडियो बनाना शुरू कर दिया। हड़बड़ाकर पीडित ने कपड़ा पहना और वीडियो नहीं बनाने का निवेदन किया।

             पुलिस कप्तान ने बताया कि वर्दीधारी व्यक्ति ने पीड़ित से तत्काल 6 हजार रूपए लिए..इसके अलावा भी रूपए मांगे। साथ ही पीड़ित का मोबाइल भी जब्त कर लिया। साथ ही ब्लैकमेलिंग की धमकी देने लगे। कही से पीड़ित ने 8 हजार रूपए प्रबंध किया। और अपनी मोबाइल लेकर चला गया। तीन चार दिन बाद पीड़ित को दूसरे नम्बर से काल आया। और कालर ने अपने को डीएसपी क्राइम ब्रांच बताया। उसने पीड़ित को वीडियो और फोटो भेजकर कहा कि जल्द ही उसे गिरफ्तार करेगा। यदि गिरफ्तारी से बचना चाहता है तो दो लाख रूपए लेकर आए। अन्यथा जेल में सड़ता रहेगा।

पुलिस के सामने नहीं चली होशियारी...20 से अधिक रोड रोमियों पर कार्रवाई...अभिभावकों को भी मिली चेतावनी

            लगातार धमकी के बाद परेशान पीड़ित ने पुलिस से सम्पर्क किया। आरोपियों को पकड़ने एडिश्नल एसपी ओमप्रकाश शर्मा और सीएसपी की अगुवाई में टीम का गठन किया गया। और फोन नम्बर को सायबर लोकेशन में डाला गया।

          पुलिस की निगरानी में एक बार फिर आरोपी ने पीडित  पैसा के लिए फोन किया। पुलिस के निर्देश पर पीड़ित ने ब्लैकमेलिंग करने वाले को 17 जून को बुलाया। लेकिन ब्लैकमेलर ने 18  जून को साइंस कालेज मैदान में मिलने की बात कही। पुलिस कप्तान ने बताया कि इस दौरान आरोपी को पकड़ने पहलेसे ही मौके पर पुलिस टीम को गुप्त रूप से तैनात कर दिया गया।

                  18 जून को एक व्यक्ति सायकल से रूपए लेने साइस कालेज मैदान पहुंचा। पीडित से लिफापा लेने देने के दौरान ही उसे पकड़ लिया गया। पुलिस कप्तान ने बताया कि पकड़ा गया व्यक्ति ने अपना नाम कृष्णा शर्मा सक्ती जिला जांजगीर का रहने वाला है। इस समय डबरीपारा में रहकर सिक्यूरिटी का काम करता है। मुक्कु ऊर्फ मकेश कुर्मी के कहने पर पैसा लेने आया है। इसके पहले भी वह कई बार मु्क्कु के कहने पर पैसा लेने आ चुका है। कृष्णा ने पूछताछ के दौरान बताया कि मुकेश सागर मध्यप्रदेश का रहने वाला है। उसके खाते में अब तक कई लोगों से रूपए ऐंठकर दो लाख रूपए भेज चुका है।

            कृष्णा ने मामले में अन्य लोगों की भूमिका के बारे में भी बताया। कृष्णा से पूछताछ के दौरान अन्य लोगों के बारे में भी जानाकरी दी। निशानदेही पर वीडियो बनाने वाले को पकड़ा गया। वीडियो बनाने वाले ने ल़डकी के बारे मे जानकारी दी। लड़की ने अपने सहयोगी महिला को मुक्तिधाम चौक में बुलाया। पुलिस ने दूसरी महिला को धर दबोचा।  दोनों महिलाओं ने बताया कि यह सब मुक्कु के इशारे पर काम करती हैं। वह ग्राहक जता है। एक वर्दीधारी मौके पर पहुंचकर वीडियो बनाता है। और वीडियो के सहारे ब्लैकमेलिंग करते है।

एमआईसी का फैसला...ठेकेदार संभालेंगे ऑडिटोरियम

                  प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि दोनों महिलाओं को दो लोगों का फोटो दिखाया गया। दोनो ने बताया कि इसमें एक फोटो सूरत सारथी और दूसरा रामकुमार का है। इसके बाद  दोनों को हिरासत में लिया गया। पूछताछ में रामकुमार खाण्डेकर ने बताया कि वह पीसीआर ड्रायवर रह चुका है। अपने साथी सूरज सारथी के साथ मिलकर तीन लाख रूपए पीडित ब्लैकमेल कर चुके हैं। आघा रुपया मुक्कु  के खाते में डाल चुके हैं। 

         पुलिस कप्तान ने पत्रकारों के सवाल पर कहा कि जांच पड़ताल और पूछताछ के बाद मुकेश को सागर में गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस जल्द ही लेकर बिलासपुर पहुंचने वाली है। आरोपियों के पास से 6 मोबाइल,बैंक जमा पर्ची डेढ़ लाख रूपए नगद बरामद किया गया है

गिरफ्तार आरोपियों के नाम

                पकड़े गए आरोपियों के नाम मुकेश कुर्मी, निवासी सागर, सूरज सारथी पिता उमाशंकर निवासी चांटीडीह सरकंडा, रामकुमार खाण्डेकर पिता कच्छराम खाण्डेकर निवासी बिलासपुर, कृष्णा शर्मा पिता गजानन्द शर्मा निवासी सक्ती हाल मुकाम डबरीपारा ,आकाश कुमार निर्मलकर पिता दशरथ निवासी पण्डरिया हाल मुकाम बंधवापारा है। इसके अलावा  दो महिलाओं को भी गिरफ्तार किया गया है।  

                 

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS