पूर्व कानून मंत्री ने कहा…5 राज्यों में कांग्रेस की लहर..कहा बनाएंगे सरकार…भाजपा सरकार पर साधा निशाना..पूछा कहां गयी 37 हजार महिलाएं

बिलासपुर–पूर्व केन्द्रीय मंत्री वीरप्पा मोइली ने आज कांग्रेस भवन में पत्रकारों से बातचीत की। मोइली ने कहा पांच राज्यों में विधानसभा का चुनाव होने जा रहा है। सत्ता के खिलाफ जनता में भारी नाराजगी है। पांचो राज्य में कांग्रेस की सरकार बनेगी। उन्होने बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य देश का सबसे धनाड्य क्षेत्र है। लेकिन यहां की जनता सबसे गरीब है। पिछले पन्द्रह साल में प्रदेश में विकास के नाम पर केवल भ्रष्टाचार हुआ है। गरीबी बढ़ी है…बेरोजगारों की संख्या में इजाफा हुआ है। महिलाओं के साथ अत्याचार हुआ है। हर तरफ भ्रष्टाचार का बोलबाला है।

                         आज कांग्रेस भवन में कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व केन्द्रीय मंत्री वीरप्पा मोइली ने बताया कि जिन पांच राज्यों में चुनाव होने जा रहा है..वहां जनता के बीच सरकार के खिलाफ भयंकर आक्रोश है। पांचो राज्यों में कांग्रेस की सरकार बनेगी। उन्होने कहा कि पिछले 15 साल में जनता का नहीं केवल और केवल अधिकारियों का विकास हुआ है। नीति आयोग के अनुसार जब डॉ.रमन सिंह ने शपथ लिया था उस समय प्रदेश में बीपीएल परिवारों की संख्या 37 प्रतिशत थी। साल 2018 में आंकड़ा 48 प्रतिशत से अधिक हो गया है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रदेश में कितना विकास हुआ है।

         मोइली ने बताया कि प्रदेश सरकार प्रदेश के युवाओं का हक मारा जा रहा है। प्रदेश की नौकरियों को आउटसोर्सिंग के माध्यम से भरा जा रहा है। देश में त्रिपुरा के बाद सर्वाधिक बेरोजगारी का प्रतिशत छत्तीसगढ़ में है। कांग्रेस पार्टी ऐसी किसी नीति का विरोध करती है। सरकार बनते ही स्थानीय बेरोजगारों को बाहरी लोगों पर प्राथमिकता दी जाेगी। मोइली के अनुसार यूपीए सरकार ने किसानों का 72 हजार करोड़ रूपए का कर्जा माफ किया गया था। 13 हजार किसान परिवार को फायदा हुआ था। प्रदेश में सरकार बनते ही किसानों का कर्ज माफ और बिजली खर्च हाफ किया जाएगा।

                                    मोईली ने बताया कि यूपीए सरकार में जब पेट्रोलियम मंत्री था तात्कालीन समय क्रूड आयल की कीमत 100 से 130 डालर था। बावजूद इसके पेट्रोल की दाम 70 रूपए के ऊपर नहीं गया। रसोई गैस की कीमत 350 रूपए प्रति सिलेन्डर था। आज क्रूड आयल की कीमत 70 बैरल प्रति डालर है। लेकिन पेट्रोल का दाम आसमान पहुंच गया है। रसोई गैस की कीमत एक हजार रूपए प्रति सिलेन्डर हो गए हैं। प्रधानमंत्री ने जीएसटी लगाकर 16 लाख करोड़ रूपए अपने पास रख लिया या उद्योगपतियों को दिया। यदि यह रूपया जनता के बीच आ जाता तो देश की परचेजिंग पावर बढ़ जाती। बाजार में रौनक आ जाती। लेकिन उन्होने ऐसा नहीं किया।

                नक्सल समस्या पर मोइली ने कहा कि किसी समय छत्तीसगढ़ में मात्र दो जिले ही नक्सल प्रभावित थे। आज पूरा प्रदेश नक्सलियों की चपेट में है। आन्ध्रप्रदेश और कर्नाटक भी नक्सली समस्या से पीड़ित थे। दोनों राज्य की सरकारों ने आदिवासियों के हित में कदम उठाई। नई योजनाएं लाकर आदिवासियों के समग्र विकास पर फोकस किया। आज दोनों राज्यों से नक्सली समस्या खत्म हो गयी है। लेकिन पिछले पन्द्रह सालों में छत्तीसगढ़ में नक्सली समस्या बढ़ी है। आदिवासियों का शोषण हुआ है। जल जंगल जमीन को हथिया कर आदिवासियों को मुख्यधारा से खदेड़ा गया। कांग्रेस सरकार बनने के बाद प्रदेश में नक्सल समस्या को जड़ से खत्म किया जाएगा। आदिवासी समाज को उसका संवैधानिक अधिकार दिया जाएगा।

                             मोइली ने बताया रमन सरकार ने स्थायी पट्टा देने का वादा किया। सरकार के सामने 8 लाख 6 हजार आदिवासियों का आवेदन आया। लेकिन आधा आवेदन निरस्त कर दिया गया। बचे हुए आवेदनों में मात्र 5 प्रतिशत ही स्थायी पट्टा दिए गए। जिसके चलते आदिवासियों में आक्रोश है। आक्रोश का फायदा नक्सली उठा रहे हैं।

मोईली के अनुसार यूपीए सरकार ने साल में मनरेगा के तहत 150 दिन का रोजगार दिया। लेकिन प्रदेश में रमन सरकार ने मात्र 32 दिन का साल में रोजगार दिया। केन्द्र के रूपयों को सराकर ने दबा दिया। आज भी मनरेगा मजदूरों का भुगतान नहीं किया गया है। उन्होने कहा प्रदेश में महिलाओं की हालत ठीक नहीं। महिलाए अपराधियों की शिकार हो रही है। सर्वाधिक बलात्कार की घटना छत्तीसगढ़ में दर्ज की गयी है। 37 हजार महिलाएं कहा है आज भी किसी को नहीं मालूम है। दरअसल प्रदेश सरकार ने पिछले पन्द्रह सालों से महिलाओं के प्रति संवेदनहीनता का परिचय दिया है। मोईली ने बताया कि किसानों की सर्वाधिक आत्महत्या का औसत दर छत्तीसगढ़ में है। यह आंकड़े दिल को दहलाने वाले हैं।

पत्रकार वार्ता के दौरान पीसीसी महामंत्री अटल श्रीवास्तव,बिलासपुर विधानसभा प्रत्याशी शैलेश पाण्डेय,जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी,शहर अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर विशेष रूप से मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *