हमार छ्त्तीसगढ़

जोगी का सीएम पर निशाना,बोले-खुद का कर रहे हैं प्रचार

JOGIरायपुर—पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने लोक सुराज अभियान को शासकीय अंधाधुंध खर्च पर खुद को प्रोजेक्ट करने का तरीका बताया है। उन्होने प्रेस नोट जारी कर बताया है कि सुराज के बहाने मुख्यमंत्री अपना प्रचार कर रहे हैं।

            प्रेस नोट जारी कर पूर्व मुख्यमंत्री ने मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह पर निशाना साधा है। जोगी ने कहा है कि लगातार 14 साल तक शासन करने के बाद भी  उनके पास न तो विकास का नजरिया है और नहीं कोई प्लान। मुख्यमंत्री धरातल की स्थिति अंजान हैं। दरअसल उड़नखटोले का मजा ले रहे हैं। मुख्यमंत्री लोक सुराज अभियान के नाम पर प्रत्येक वर्ष की तरह इस साल भी अपने जनसम्पर्क विभाग के लाव लश्कर के साथ पिकनिक कर रहे हैं। अब तो इस अभियान को मुख्यमंत्री के बाद आला अधिकारी भी गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। इसलिये मुख्यमंत्री किसी स्थान जाना चाहते है और अधिकारी उसी नाम के अन्य गांव में उड़नखटोला उतार देते हैं।

           श्री अजीत जोगी ने कहा कि मुख्यमंत्री डाण् रमन सिंह विगत 14 वर्षों के शासनकाल में दूसरी बार अपना रात्रि विश्राम बिलासपुर में किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि बिलासपुर को छत्तीसगढ़ का सबसे सुन्दर शहर बनायेंगे और हम उस दिशा में काम कर रहे हैं। इसके कुछ घंटे बाद ही केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री श्री वेंकैया नायडू अधिकृत बयान देते है कि देश में बिलासपुर एक मात्र ऐसा शहर है जहां गंदगी में बढ़ोतरी हुई है। श्री अजीत जोगी ने मुख्यमंत्री से जानना चाहा है कि यदि वे शहर को सुंदर बना रहे हैं तो फिर केन्द्र की रिपोर्ट में गंदगी में नम्बर वन क्यूंघ् बिलासपुर की जनता को चाहिए कि वे डाण् रमन सिंह व अमर अग्रवाल से बिलासपुर की गंदगी चुनवाये।

न्याय के बाद बजती तालियां

             जोगी ने प्रेस नोट में बताया है कि पूरे बिलासपुर शहर को विगत पिछले पांच सालों में सिवर लाईन के नाम से गड्ढों में तब्दील कर दिया गया है। गढ्ढों में अब तक 17 लोगों की मौत सैकड़ों लोग गंभीर रूप से घायल हो चुके हैं। अजीत जोगी ने कहा कि इतनी उन्नत तकनीक आ चुकी है कि हेरोलिक के माध्यम से बिना ऊपरी सतह को गढ्ढा किये भूमिगत कार्य किया जा सकता है। लेकिन सरकार ने बिलासपुर वासियों से न कभी वास्ता रखा और न ही उनके दुःख.दर्द समझने का प्रयास किया।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS