मेरा बिलासपुर

प्यारे लाल गुप्त की जयंती पर पाठ सम्मान

pyare बिलासपुर ।  बिलासपुर की त्रैमासिक साहित्यिक पत्रिका ’’पाठ’’  की ओर से  केशरवानी वैश्य सभागार इमलीपारा में प्यारेलाल गुप्त के 125 वी जंयती पर पाठ सम्मान का आयोजन किया गया। इस अवसर पर पाठ पत्रिका द्वारा प्यारे गुप्त लिखित पुस्तक प्राचीन छत्तीसगढ़ के आलेख पर आधारित पुस्तक छत्तीसगढ़ का लोक साहित्य एवं डाॅ. कामेश्वर पाण्डेय द्वारा लिखित पुस्तक ’’जुराव’’ का विमोचन किया गया।
पाठ सम्मान समारोह में राम मेश्राम ग़ज़लकार भोपाल को प्यारेलाल गुप्त स्मृति ’’पाठ साहित्य सम्मान’’ तथा एम.आर शेवालकर की स्मृति में ’’पाठ कला सम्मान’’ त्रिजुगी कौशिक मुख्य छायाचित्रकार जनसंपर्क को एवं ’’पाठ पत्रकारिता सम्मान’’ स्वाति भोंसले की स्मृति में श्रीमती मधु शर्मा पत्रकार को प्रदान किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जनसंपर्क अधिकारी एस.ई.सी.एल बिलासपुर  मिलिन्द चहान्दे तथा अध्यक्षता वरिष्ठ रंगकर्मी इप्टा बिलासपुर  मधुकर गोरख थे। विशिष्ट अतिथि के रूप में गुरूघासीदास विश्वविद्यालय बिलासपुर के जनसंपर्क अधिकारी  सत्येश भट्ट, डा. कामेश्वर पाण्डेय एस.ई.सी.एल. कोरबा तथा डा. एस.डी केशरवानी चिकित्सक बिलासपुर एवं प्रो. शंकर लाल केशरवानी थे।

pyare 2
इस अवसर पर समकालीन हिन्दी ग़ज़ल पर परिचर्चा की गई। जिसमें  राम मेश्राम (भोपाल,  राजमलकापुरी बिलासपुर एवं  खुर्शीद हयात बिलासपुर ने भाग लिया। वरिष्ठ साहित्यकार एवं प्रबंध संचालक पाठ  विजय गुप्त ने तथा संपादक पाठ  देवान्शु पाल ने पाठ सम्मान के बारे में आवश्यक जानकारी दी। डाॅ. निशा भोसले द्वारा पाठ के प्रकाशन के संदर्भ में विस्तृत जानकारी दी गई। गुरूघासीदास विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी  सत्येश भट्ठ ने कार्यक्रम में पत्रकारिता के सामाजिक सरोकार तथा कामेश्वर पाण्डेय ने छत्तीसगढ़ी भाषा के संदर्भ में अपनी बातें रखी।

वीसी के योगदान को कांग्रेसियों ने किया याद
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS