प्रणब मुखर्जी के सांसद पुत्र ने कहा…राजधर्म नहीं निभा रही सरकार…संसद में उठाउंगा लाठीचार्ज का मुद्दा..कांग्रेसियों ने दी गिऱप्तारी

बिलासपुर—प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल के गिरफ्तारी से नाराज कांग्रेसियों का लगातार जेल भरो आंदोलन चल रहा है। बघेल की गिरफ्तारी के खिलाफ आज भी प्रदेश कांग्रेस नेताओं के जेल भेजे जाने के मामाले सामने आए है। आज बिलासपुर ब्लाक कांग्रेस कमेटी एक और दो गिरफ्तारी के खिलाफ सिविल लाइन और सरकण्डा थाना के सामने विरोध प्रदर्शन किया। धरने को पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के सांसद पुत्र अभिजीत मुखर्जी ने रिचार्ज किया। मुखर्जी ने पत्रकारों को बताया कि केन्द्र और राज्य सरकार राजधर्म भूल चुकी है। देश में आरजकता का माहौल है।

                                प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के गिरफ्तारी के बाद कांग्रेसियों का आक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा है। कांग्रेस नेताओं ने सरकार पर आरोप लगाया है कि भूपेश बघेल को षडयंत्र कर फंसाया गया है। उन्हें साजिश के तहत जेल भेजा गया है। पीसीसी के निर्देश के बाद आज कांग्रेस नेताओं ने प्रदेश व्यापी ब्लाक स्तरीय धरना प्रदर्शन के बाद गिरफ़्तारी दिया है।

       बिलासपुर में ब्लाक एक और दो कांग्रेस अध्यक्ष तैय्यब हुसैन के साथ विनोद साहू की अगुवाई में  सत्यम चौक और स्थानीय बहतराई चौक में अलग अलग धरना प्रदर्शन किया गया। ब्लाक एक के नेताओं ने  सिविल लाइन थाने में और ब्लाक के नेजाओं ने सरकंडा थाने में गिरफ़्तारी देकर भूपेश बघेल की गिरफ्तारी का विरोध किया है।

             सत्यम चौक स्थित ब्लाक एक कांग्रेसियों के धरना प्रदर्शन को पश्चिम बंगाल जंगीपुर लोकसभा क्षेत्र सांसद पूर्व राष्टपति प्रणव मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने संबोधित किया। अभिजीत मुखर्जी ने कहा कि वह बिलासपुर एक समाजिक कार्यक्रम में शामिल होने आए हैं।

              सांसद अभिजीत मुखर्जी ने कहा कि केन्द्र राज्य सरकार राजधर्म भूल चुकी है। बिलासपुर में मैने लाठी चार्ज की घटना का विडियो देखा है। निश्चित रूप से  घटना अलोकतांत्रिक है। कांग्रेस भवन में घुस कर जिस तरह से बर्बरता पूर्वक लाठी चार्ज किया गया…उसकी जितनी निंदा की जाए कम है। घटना के जिमा्मेदार लोगों को कभी भी माफ नहीं किया जा सकता है।

            अभिजीत मुखर्जी ने बताया कि छत्तीसगढ प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल को जिस तरह बिना अपराध के जुर्म दर्ज कर जेल भेजा गया है वह प्रधानमंत्री की तानाशाही चरित्र को जाहिर करता है। अभिजीत मुखर्जी ने यह भी कहा कि भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ये नहीं भूलना चाहिए की सरकार स्थायी नहीं होती। आज भाजपा की सरकार है तो कल कांग्रेस की होगी। आज भाजपा सरकार विपक्ष को निशाना बनाकर परेशान कर रही है। यह परम्परा ठीक नहीं है। भूपेश बघेल समेत प्रदेश के कांग्रेस नेताओं और जनता को बेवजह फंसाया जा रहा है। बताना चाहुंंगा कि आज पूरा देश भूपेश के साथ खड़ा है।

              अभिजीत ने कहा सांसद होने के नाते छत्तीसगढ के सांसद महोदयों से बात कर बिलासपुर के लाठी चार्ज की बात को लोकसभा में उठाऊंगा। कांग्रेस नेताओं के धरना प्रदर्शन को नरेंद्र बोलर, महेश दुबे, कृष्ण कुमार यादव, तैय्यब हुसैन, शेख नजरुद्दीन, अरविन्द शुक्ला, एसपी चतुर्वेदी, अखिलेश बाजपेयी, दीपांशु श्रीवास्तव, अभय नारायण राय ने भी संबोधित किया।

                   धरने में प्रमुख रूप से बैद्नाथ चंद्राकर, विजय पाण्डेय, शिवा मिश्रा, रविन्द्र सिंह, अटल श्रीवास्तव, विजय केशरवानी, सीमा पाण्डेय, बबिता दुबे, जावेद मेमन, शिवा नायडूए वसीम खान. अकबर अली, रामा बघेल, डॉ.तरु तिवारी, धर्मेश शर्मा, स्वप्निल शुक्ला, सुनील शुक्ला,पन्चराम सूर्यवंशी,एसडी कार्टर, कशी रात्रे,मुकीम कुरैशी,सुभाष ठाकुर, केशव गोरख,बद्री यादव, शेख निजामुद्दीन,समेत 87 से अधिक कांग्रेसियों ने तैय्यब हुसैन की अगुवाई में गिरफ़्तारी दी। पुलिस ने सभी कांग्रेसियों को दो घंटे बाद रिहा कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *