फायर एन्ड सेफ्टी टीम ने दिया आडिट रिपोर्ट…CGMS देगा सीआर्म्स…SECL से मिलेगी CT स्कैन मशीन की सौगात

बिलासपुर—चुनाव आचार संहिता खत्म होते ही सिम्स की महंगी जरूरतों को पूरा किया जाएगा। स्थानीय विधायक शैलेन्द्र पाण्डेय के प्रयास से जल्द ही सिम्स को हड्डी के उपचार में अति महत्वपूर्ण सीटी स्कैन और सी आर्म्स मशीन की सुविधा मिलेगी। बताते चलें की सिम्स में पहले से ही सीआर्म्स और सीटी स्कैन मशीन है। लेकिन पुरानी होने के कारण काम पर कम बीमार ज्यादा रहती है। जानकारी के अनुसार सिम्स को फायर एण्ड सेफ्टी की टीम ने सुरक्षा को लेकर रिपोर्ट भी दे दिया है। सिम्स प्रबंधन के अनुसार रिपोर्ट को पीडल्बूडी और और ईएण्डएम को भेजा जाएगा।  खर्च की जानकारी मिलते ही शासन को अवगत कराया जाएगा।

सीआर्म्स और सीटी स्कैन मशीन की सौगात

                              चुनाव आचार संहिता खत्म होते ही सिम्स को जल्द ही नया सीआर्म्स और सीटी स्कैन मशीन की सौगात मिलेगी। जानकारी के अनुसार स्थानीय विधायक शैलेन्द्र पाण्डेय के प्रयास से एसईसीएल ने सिम्स को सीटी स्कैन मशीन देने का एलान किया है। बताते चलें कि सिम्स का सीटी स्कैन मशीन काफी पुरानी होने के कारण लम्बे समय से बीमार है। जनहित के मद्देनजर स्थानीय विधायक की पहल पर एसईसीएल ने सिम्स को अत्याधुनिक सीटी स्कैन मशीन देने का फैसला किया है। बताया जा रहा है कि जल्द ही सीटी स्कैन मशीन का तोहफा सिम्स को मिल जाएगा।

                इसी क्रम में सीजीेएमएस ने भी सिम्स के लिए सीआर्म्स मशीन देने के लिए हरी झण्डी दिखा दिया है। जानकारी हो कि सीआर्म्स मशीन का उपयोग आर्थोपेडिक विभाग में किया जाता है। हड्डी की टूट फूट से लेकर फ्रैक्चर का इलाज सीआर्म्स मशीन के माध्यम से बेहतर तरीके से होता है। बताते चलें कि सिम्स में पहले से ही सीआर्म्स मशीन तो है…लेकिन खराब होने के कारण उसका उपयोग नहीं हो रहा है। जिसके चलते मरीजों के साथ डॉक्टरों को भी परेशानी हो रही है। समय समय पर सिम्स प्रबंधन ने सीआर्म्स मशीन की मांग को दुहराता रहा है। जरूरत को देखते हुए सीजीएमएस ने सीआर्म्स मशीन जल्द से जल्द उपलब्ध कराने का एलान किया है।

                        सूत्रों की मानें तो महीनों पहले आगजनी की घटना के बाद सिम्स की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर प्रदेश में काफी चर्चा थी। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने सिम्स के हालत को लेकर काफी चिंता जाहिर की थी। हादसे के बाद उन्होने व्वयस्था को दुरूस्त करने जमकर सर्जरी की। इसी क्रम में उन्होने फायद एण्ड सेफ्टी को लेकर चिंता जाहिर की थी। मामले में तत्काल रिपोर्ट तैयार कर पेश करने को कहा था।

फायर एण्ड सेफ्टी टीम की रिपोर्ट

                           सिम्स प्रबंधन से मिली जानकारी के अनुसार हादसे के मद्देनजर कुछ दिनों पहले फायर एण्ड सेफ्टी की टीम ने सिम्स का जायजा लिया। उन्होने शनिवार को सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रिपोर्ट दिया है। प्रबंधन ने बताया कि जल्द ही आडिट रिपोर्ट को पीएडब़्डी और ईएण्डएम विभाग के हवाले किया जाएगा। दोनों विभाग से रिपोर्ट के आधार पर खर्च की जानकारी मांगी जाएगी। सुरक्षा में आने वाले खर्च को सीजीएमएस और शासन के सामने पेश किया जाएगा। शासन के आदेश पर टेन्डर की प्रक्रिया होगी। इसके बाद काम की जिम्मेदारी निर्माण एजेन्सी को दी जाएगी।

                         सिम्स से मिली जानकारी के अनुसार फायर एण्ड सेफ्टी टीम ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि वर्तमान में जिस स्थान पर आक्सीजन प्लान्ट है उसे बाहर शिफ्ट किया जाएगा। इसके अलावा जरूरी इलेक्ट्रिक सामाग्रियों में आमूल चूल परिवर्तन किया जाएगा। 100 बेड के लिए अतिरिक्त दूसरा आक्सीजन प्लान्ट लगाया जाएगा। दोनों प्लान्ट सिम्स से बाहर ही स्थापित होंंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *