मेरा बिलासपुर

फिल्म ‘अर्जुन पंडित’ से प्रभावित था गैंगस्टर विकास दुबे,कई बार देखी मूवी,‘पंडित जी’ के नाम से था फेमस

उज्जैन।उत्तर प्रदेश के कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाला कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे को उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर से गिरफ्तार कर लिया गया है। खबरों की मानें तो विकास दुबे अभिनेता सनी देओल की 1999 में आई फिल्म ‘अर्जुन पंडित’ से प्रभावित था। इस फिल्म का विकास पर काफी असर था जिसके चलते उसे राजनीतिक महकमों और पुलिसकर्मियों के बीच ‘पंडित’ के रूप में जाना जाता था।एक वेब पोर्टल में छपी रिपोर्ट के अनुसार विकास दुबे को पंडित कहलाना बहुत पसंद था। विकास ने ‘अर्जुन पंडित’ फिल्म को दसियों बार देखा था। यहां तक कि वह लोगों के सामने भी खुद को केवल पंडित के रूप में पेश करता था।CGWALL NEWS के व्हाट्सएप न्यूज़ ग्रुप से जुडने के लिए यहा क्लिक कीजिये

बॉलीवुड थ्रिलर फिल्म ‘अर्जुन पंडित में सनी देओल एक ताकतवर व्यक्ति के किरदार में नजर आए हैं जो कि प्यार में धोखा खाने के बाद गैंगस्टर बन जाता है।कई मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि विकास ने सरेंडर किया है। ऐसे में विकास की गिरफ्तारी पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं। मध्यप्रदेश कांग्रेस ने भी ट्वीट कर इसपर निशाना साधा है। विकास की गिरफ्तारी का क्रेडिट मध्य प्रदेश सरकार ले रही है। राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि वारदात के बाद से ही पुलिस को अलर्ट पर रखा हुआ था। यह मध्यप्रदेश पुलिस की बड़ी कामयाबी है।

इसपर एमपी कांग्रेस ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा “गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा यूपी चुनाव में कानपुर के प्रभारी थे, और अभी उज्जैन के प्रभारी हैं।’बता दें कि विकास दुबे ने आज उज्जैन के महाकाल मंदिर में दर्शन के बाद खुद सरेंडर किया। 6 दिनों से यूपी पुलिस विकास दुबे की तलाश में कई जगहों पर दबिश देने के साथ ही इसके गुर्गों को निपटा रही थी। इसके सिर पर काफी इनाम भी था, लेकिन यूपी पुलिस के हाथ फिर भी विकास से काफी दूर रहे और इस गैंगस्टर ने खुद को एमपी के उज्जैन में पुलिस के सामने सरेंडर किया।

दंतेवाड़ा-सुरक्षाबलो से मुठभेड़ मे महिला दो समेत नक्सली ढेर,हथियार भी बरामद
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS