फिल ग्रुप ने दिया सीएम राहत कोष में 5 लाख का सहयोग..पाटलीपुत्र का भी योगदान..झा ने कहा..जीतेंगे जंग

बिलासपुर— कोयला कारोबारी फिल ग्रुप डायरेक्टर प्रवीण झा ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 5 लाख रुपए का सहयोग किया है। प्रवीण झा ने कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर संभागायुक्त को पांच लाख चेक थमाया। साथ ही कोरना के खिलाफ हर कदम पर शासन प्रशासन के साथ कंंधे से कंधा मिलाकर चलने का आश्वासन भी दिया। प्रवीण ने कहा देश विषम परिस्थितियों से गुजर रहा है। शासन ने समय पर सार्थक कदम उठाते हुए पीड़ितों के लिए राहत का दरवाजा खोला है।
 
                         प्रदेश के मशहूर कोयला व्यवसायी और फिल ग्रुप के डायरेक्टर प्रवीण झा ने  सामाजिक दायित्वों का निर्वहन करते हुए कोरोना के खिलाफ शासन के साथ कंधा से कंधा मिलाकर चलने का वचन दिया है। कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर प्रवीण झा ने संभागायुक्त को कोरोना पीड़ितों के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में पांच लाख रूपए जमा किया।
 
            मुख्यमंत्री राहत कोष के नाम संभागायुक्त को पांच लाख का चेक देते हुे प्रवीण झा ने बताया कि कोरोना के खिलाफ हम सब लोग एक होकर जंग लड़ रहे हैं। कोरोना की हार निश्चित है।देश के साथ प्रदेश भी  विषम परिस्थितियों से गुजर रहा है। जनता छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री के साथ है। जीत हमारी निश्चित है। इस समय विश्व के साथ ही भारत और छत्तीसगढ़ भी महामारी के खइलाफ जंग लड़ रहा है।  प्रवीण झा ने कहा कि कोरोना से बचने के लिए हम सबको शासन के निर्देशों का पालन करना बहुत जरूरी है।
 

    पाटलिपुत्र संस्कृति विकास मंच के अध्यक्ष प्रवीण झा और उपाध्यक्ष राम प्रताप सिंह शनिवार को सुबह 11 बजे कलेक्टर कार्यालय पहुंचे। संगठन के लोगों ने मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करने संभागायुक्त भरत लाल बंजारे, कलेक्टर संजय अलंग,पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल के हाथ में 51000 रुपए का चेक दिया।

           पाटलिपुत्र मंच के प्रवक्ता रौशन सिंह ने बताया कि पाटलीपुत्र मंच का सामाजिक कार्यों में हमेशा योगदान रहा है। प्रदेश इस समय कोरोना की मार से कराह रहा है। इन कठिन परिस्थितिोयों में हम सबको एक होकर आगे बढ़ना है। कोरोनाा पर जीत हासिल करना है।  रोशन ने बताया कि देश को जब जब जरूरत पड़ी.. पाटलीपुत्र मंच ने सकारात्मक योगदान दिया है। मंच ने कोरोना पीड़ितों के राहत के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में 51 हजार रूपए जमा किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *