फोटो शेसन के बाद गायब हो गए नेता

IMG_20151126_130034बिलासपुर–बिलासा गर्ल्स हॉस्टल में फर्स्ट इयर की छात्रा अंजली टडंन की आत्महत्या को लेकर अभी भी लोगों का आक्रोश थमा नहीं है। पुलिस के रवैये से परेशान अंजलि टंडन के परिजनों ने कोर्ट जाने का मन बना लिया है।  अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष रामजी भारती के आश्वासन के बाद भी परिजनों को न्याय मिलता हुआ दिखाई नहीं दे रहा है। अंजली की बड़ी बहन ने आज एक बार फिर दोषी छात्रावास अधीक्षिका पर कार्रवाई न होने पर आत्महत्या की धमकी दी है।

                               अंजली आत्महत्या मामले में अभी तक एफआईआर दर्ज नहीं हुआ है। परेशान परिजनों ने मामले की शिकायत अनुसूचित जाति आयोग से की थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए आज अनुसूचित जाति के अध्यक्ष रामजी भारती बिलासा गर्ल्स हॉस्टल का निरीक्षण किया। इस  दौरान भारती ने मामले से जुडे दस्तावेजों को भी खंगाला। साथ ही हॉस्टल स्टाफ से भी चर्चा की । पत्रकारो से आयोग के अध्यक्ष ने कहा कि वे शासन से दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा करेंगे।

                                     रामजी भारती ने हॉस्टल के स्टाफ से लम्बी चर्चा करने के बाद पत्रकारों से बताया कि हॉस्टल में नायलोन की रस्सी का कोई उपयोग नहीं करता है। इसलिए प्रश्न उठता है कि रस्सी कहां से आई है। यह जांच का विषय है । उन्होंने कहां कि छात्राओ ने रैंगिंग होने से इनकार किया है।

                                  अंजली के पिता श्याम लाल टंडन और बहन रंजनी टंडन ने भी रामजी भारती से मुलाकात कर अपनी बात रखी । श्याम लाल ने कहा कि पुलिस मामले को दबाने का प्रयास कर रही है। घटना को 13 दिन बीत चुके हैं। बावजूद इसके पुलिस ने अब तक अधीक्षिका के खिलाफ ना तो मामला दर्ज किया है और ना ही परिजनों का बयान ही दर्ज किया है।

                                        भारती के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए पीड़ित पिता ने बताया कि यदि  उन्हें इंसाफ नहीं मिलेगा तो वे कानून को हाथ में लेने से नहीं हिचकेंगे। जरूरत पड़ी तो चक्काजाम और धरना प्रदर्शन भी करेंगे। पीड़ित पिता ने न्याय नहीं मिलने की सूरत में हाईकोर्ट की शरण में जाने की बात कही है।

              श्याम लाल टंडन ने पत्रकारों से बताया कि  एएसआई ममता दुबे उनका बयान दर्ज करने मे टालमटोल कर रही हैं। अंजली की बहन रंजनी टंडन ने कहा कि अधीक्षिका आर एस लूका उसकी बहन को हमेशा परेशान करती थीं। उसकी मौत का कारण हास्टल अधीक्षिका मैडम लूका ही है। यदि उसे न्याय नहीं मिला तो वह भी हॉस्टल के सामने आत्मदाह करेगी।

                अंजली के परिजनो ने आरोप लगाया है कि आत्महत्या के बाद महिला आयोग से लेकर कुछ बड़े नेता तो आए लेकिन कुछ किया नहीं। दरअसल वे सभी लोग केवल फोटो सेशन के लिए कैमरे के सामने आए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *