मेरा बिलासपुर

बच्चों की सहायता..हमारा सामाजिक दायित्व– अमर

child line ka subharambh  (4)बिलासपुर—बेसहारा और मुसीबत में फंसे बच्चों के मदद के लिए आज रेलवे स्टेशन बिलासपुर में चाइल्ड लाईन 1098 हेल्प बूथ का शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर नगरीय प्रशासनए उद्योग एवं वाणिज्यिक कर मंत्री अमर अग्रवाल ने कहा कि जरूरतमंद बच्चों की सहायता करना सभी का सामाजिक दायित्व है। महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशिला साहू ने कहा कि भूले.भटके बच्चों को समाज की मुख्यधारा में जोड़ने के लिए यह केन्द्र महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगी।

चाइल्ड लाईन 1098 हेल्प बूथ 24 घण्टे चलने वाली निःशुल्क आपातकालीन राष्ट्रीय फोन सेवा है। यह उन बच्चों के लिए है जिन्हें देखभाल और सुरक्षा की जरूरत है। राज्य सरकारए गैर सरकारी संगठन और शैक्षणिक संस्थाओं की भागीदारी में महिला एवं बाल विकास विभाग की महत्वपूर्ण योजना है। जब कोई बच्चा अकेला या बीमार हो। उसे आश्रय की जरूरत हो। बच्चे को छोड़ दिया गया हो या वह गुम हो गया हो शारीरिक या मानसिक शोषण हो रहा हो । खोया हुआ बच्चा किसी को मिले, किसी बच्चे के अधिकार का हनन हो रहा हो। बच्चे को भावनात्मक सहारे और  मार्गदर्शन की आवश्यकता हो। ऐसे बच्चों के लिए यह सेवा उपलब्ध है। रेलवे स्टेशन में हेल्प बूथ की आवश्यकता निरंतर महसूस की जा रही थी। दक्षिण पूर्व मध्य बिलासपुर रेलवे के सहयोग से यह बूथ स्थापित किया गया है।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अग्रवाल ने कहा कि बच्चे हमारे कल के भविष्य है। उन्हें शिक्षित व्यवस्थित हृष्टपुष्ट बनाकर अच्छा नागरिक बनने में मदद कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी के माध्यम से पौष्टिक भोजन तथा शिक्षा के अधिकार कानून के द्वारा सभी बच्चों को शिक्षा देने का प्रयास सरकार ने किया है। बच्चों की सहायता के लिए चाइल्ड लाईन सेवा को छत्तीसगढ़ सरकार ने महत्वपूर्ण सेवा माना और इसके लिए टोल फ्री सेन्टर स्थापित किया है। अग्रवाल ने रेलवे स्टेशन में चाइल्ड लाईन प्रारंभ करने में सहयोग के लिए रेलवे का आभार माना।

शिक्षकों की ट्रांसफर - पोस्टिंग का विवाद नहीं सुलझा, तिमाही परीक्षा का समय नजदीक

रमशिला साहू ने कहा कि मुसीबत से घिरे बच्चों की मदद के लिए रायपुर रेलवे स्टेशन में पहला चाइल्ड लाईन बूथ खोला गया । बिलासपुर में प्रदेश का दूसरा बूथ है। इस बूथ की स्थापना के उद्देश्य को पूरा करने के लिए सभी का सहयोग आवश्यक है। बच्चे स्टेशन में घूमते पाये गये तो उसकी मदद इस सेन्टर के माध्यम से की जायेगी। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि ऐसे बच्चे जहां भी मिले उन्हें सेन्टर में लेकर आएं।

इस अवसर पर नगर निगम महापौर किशोर रायए कलेक्टर अन्बलगन पी.पुलिस अधीक्षक अभिषेक पाठक रेलवे के डीआरएम सोलंकी महिला एवं बाल विकास विभाग की संयुक्त संचालक अर्चना राणा समेत विभाग के वरिष्ठ उपस्थित थे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS