बच्चों के बीच टाह को याद आया बचपन…भीगी गयी पलकें…नौनिहालों को दिया तोहफा..कहा..बच्चे देश का भविष्य

BHASKAR MISHRA
3 Min Read
बिलासपुर—जनता कांग्रेस पार्टी बेलतरा विधानसभा विधायक प्रत्याशी अनिल टाह ने बच्चों के बीच समय बिताया। मासूमों के साथ कुछ पल बीताकर अनिल टाह ने भीगी पलकों के साथ अपने खोये बचपन को भी याद किया। टाह ने पंचायत सलखा के शिकारी मोहल्ला शासकीय प्राथमिक स्कूल भाठापारा में 35 शिकारी बच्चों के बीच जूता और मोजा का वितरण किया।
                       जनता कांग्रेस नेता अनिल टाह ने ग्राम पंचायत सलखा स्थित शिकारी मोहल्ला शासकीय स्कूल भाठापारा में शिकारी बच्चों के साथ अपने बचपन को साझा किया। इस दौरान टाह ने बच्चों के बीच जूता और मोजा का वितरण किया। टाह ने बताया कि शिकारी बच्चों की पारिवारिक हालत आर्थिक रूप से बहुत नाजुक है। पैसों के अभाव में सभी बच्चें जन्म से लेकर स्कूल तक नंग पैर चलते हैं। बच्चों को स्कूल जाने के लिए धूल-कंकड़ कांटा गर्मी का सामना करना पड़ता है।
                 टाह ने बताया कि बच्चों की हालत देखने के बाद दुख भी हुआ और सिस्टम पर क्रोध भी आया। मामले को गंभीरता से लेते हुए मैने एक छोटा सा प्रयास किया। बच्चों के बीच पहुंचकर 35 बच्चों को जूता और मोजा बांटकर केवल मानव धर्म का पालन किया है।
          जूता मोजा वितरण कार्यक्रम के दौरान टाह ने बच्चों को संबोधित भी किया। उन्होने कहा कि बच्चें राष्ट्र निर्माण की कड़ी हैं। बच्चों की शिक्षा से ही स्वस्थ्य समाज और देश का निर्माण होगा।  शिक्षक अपनी जिम्मेदारी समझें और बच्चों को देश के प्रति जागरूक करें। इस दौरान सभी बच्चे जूता-मोजा पाकर काफी खुश नजर आए। अभिभावकों ने टाह के प्रति कृतज्ञता जाहिर की।साथ ही बेलतरा विधानसभा प्रत्याशी बनााये जाने पर अजीत जोगी के प्रति धन्यवाद भी जाहिर किया।
                   स्थानीय लोगों ने भी कार्यक्रम की सराहना की। ग्रामीणों ने बताया कि आज तक हमारे गाव में किसी भी पार्टी के कोई नेता झांकने का कष्ट नहीं किया। ना ही किसी ने हमारे बच्चों की पीड़ा को समझने का प्रयास ही किया। हम टाह के प्रति आभारी हैं..उन्होने हमारी पीड़ा को समझा हमारी जिम्मेदारी बनती है कि उनका साथ दे।
                    इस दौरान एच. पी. लक्ष्मे, आशीष सोनी, श्याम रतन कौशिक, मनीष सोनी, दिलीप चतुर्वेदी, रवि जयसवाल, मधु कौशिक, मनमोहन सिंह कोराम, धनंजय कोराम, लेखराम मालिया, धनंजय यादव, रमेश पोर्ते, संत मालिया व समस्त शिक्षकगण और सैंकड़ों ग्रामवासी विशेष रूप से मौजूद थे।
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close