मेरा बिलासपुर

बच्चों ने बताया…बदबू में नहीं होती पढ़ाई

COLLECTORATEबिलासपुर— कोटा ब्लाक स्थित छेरकाबांधा प्राथमिक स्कूल के पास शराब फैक्टरी से निकलने वाले बदबू से बच्चे और ग्रामीम परेशान हैं। शराब की बदबू से स्कूल का अध्यापन कार्य प्रभावित हो रहा है। बच्चों के स्वास्थ्य पर बदबू का गलत प्रभाव पड़ रहा है। कई बच्चे  बेहोश भी हो चुके हैं। स्कूली बच्चे आज दोपहर कलेक्ट्रेट पहुंच कर कार्रवाई की मांग की है।

                                      कोटा तहसील के ग्राम छेरका बांधा की शराब फैक्टरी से परेशान स्कूली बच्चों ने आज कलेक्टर से शिकायत की है। बच्चों ने बताया कि छेरकाबांधा प्राथमिक शाला के बगल से शराब निर्माण की फैक्ट्री है। फैक्ट्री से बदबू आती है…। जिसके कारण स्कूल में बैठना मुश्किल हो जाता है। शराब फैक्ट्री से निकलने वाली बदबू से ग्रामीण जीवन भी परेशान है।
                              स्कूली बच्चे और ग्रामीणों ने बताया कि शराब की बदबू से अध्यापन कार्य प्रभावित हो रहा है। बच्चों की सेहत दिन ब दिन बिगड़ती जा रही है। बदबू से परेशान होकर कुछ बच्चों ने तो स्कूल छोड़ दिया है। मास्टरों ने स्थानांतरण करवा लिया है।
       शिकायत कर्ताओं ने बताया कि कई बार तो शराब की बदबू से बच्चे  बेहोश भी हुो चुके हैं। परेशान परिजनों ने अधिकारियों से स्कूल को दूसरी जगह शिफ्ट करने की मांग की है।
                             परिजनों ने बताया कि स्कूल में पेयजल की व्यवस्था नहीं है। प्यास बुझाने के लिए बच्चों को करीब एक से डेढ़ किलोमीटर चलना होता है। स्कूल की हालत भी काफी जर्जर है…फर्श उखड़ गया है। जीर्णाद्धार से बेहतर स्कूल को कही दूसरी जगह शिफ्ट किया जाए।
            जानकारी के अनुसार छेरकाबांधा स्कूल का निर्माण शराब फैक्टरी के बाद हुआ है। लोगों की फरियाद सुनने के बाद कलेक्टर अन्बलंगन पी ने कहा कि शराब फैक्टरी के पास स्थित स्कूल की उन्हें जानकारी नही है। शराब फैक्ट्री के पास स्कूल का होना गंभीर बात है। जानकारी लेने के बाद उचित कार्रवाही की जाएगी।

छत्तीसगढ़ में कर्मचारियों का हड़ताल: कल से बंद रहेंगे सरकारी कार्यालय
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS