हमार छ्त्तीसगढ़

बस्तर में विकास की नई इबारत लिखेगा नगरनार स्टील प्लांट -डॉ. रमन सिंह

जगदलपुर।मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि आने वाले समय में बस्तर में स्थापित हो रहा नगरनार स्टील प्लांट बस्तर के विकास की नई इबातर लिखेगा। उन्होंने कहा कि नगरनार भविष्य का भिलाई है। भिलाई आठ सौ की आबादी वाला एक गांव था, जिसकी गिनती आज देश के बड़े शहरों में होती है। यही नगरनार आने वाले दस साल बाद भिलाई की तरह पूरा शहर बन जाएगा। कई उद्योग यहां स्थापित होंगे, जिससे विकास की रफ्तार बढ़ेगी। डॉ. सिंह आज जिला मुख्यालय जगदलपुर के धरमपुरा में निर्मित मुरिया समाज के सामाजिक भवन ‘मुरिया सदन‘ के लोकार्पण के पश्चात आयोजित समारोह को सम्बोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ने मुरिया सदन की प्रशंसा करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में ऐसा शानदार सामाजिक भवन नहीं देखा। उन्होंने इसके लिए मुरिया समाज की संगठन क्षमता और जागृति की तारीफ की। उन्होंने कहा कि 45 लाख रुपए की लागत से निर्मित इस भवन के लिए बस्तर विकास प्राधिकरण से 15 लाख रुपए, सांसद निधि से 10 लाख रुपए एवं विधायक निधि से पांच लाख रुपए प्रदान किया गया था। समाज द्वारा इस भवन के निर्माण के लिए 15 लाख रुपए इकट्ठा करना समाज की एकजुटता और जागरुकता को बताता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बस्तर के विकास के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, कनेक्टिविटी आदि सेक्टरों में योजना बनाकर कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री स्वयं बस्तर के विकास को प्राथमिकता देते हैं। बस्तर को रेल कनेक्टिविटी से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है। भानुप्रतापपुर तक रेल सेवा प्रारंभ हो चुकी है और अब कोण्डागांव होते हुए जगदलपुर को रेलमार्ग से जोड़ने का कार्य भी तेजी से चल रहा है।

शिक्षकों के संघर्ष में हमेशा आगे रहा है फेडरेशन,वर्चुअल बैठक में ब्लॉक स्तरीय पदाधिकारियों का मनोनयन

उन्होंने कहा कि बस्तर को रेलमार्ग के साथ-साथ टेलीकॉम कनेक्टिविटी से भी जोड़ा जा रहा है, इसके साथ ही शासन द्वारा महिलाओं को स्मार्ट फोन भी दिया जाएगा। बस्तर के 14 वर्षोें के विकास का सफर यहां की जनता के आशीर्वाद से ही संभव हुआ है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मुरिया समाज की तारीफ करते हुए कहा कि यह समाज शिक्षा के साथ ही सभी क्षेत्रों में आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि प्रयास के माध्यम से हमारे बेटे-बेटियां न केवल मेडिकल कॉलेज में जा रही हैं, इंजीनियरिंग कॉलेज में जा रही हैं। आईआईएम, आईआईटी जैसी संस्थानों में जा रहे हैं। डिप्टी कलेक्टर बन रहे हैं और आने वाले समय में यही प्रयास सफल होगा, जब बस्तर के बच्चे ही यहां कलेक्टर और एसपी बनकर यहां सेवा देंगे। शिक्षा का स्तर, गुणवत्ता कैसे बढ़े, इसके लिए सरकार लगातार कार्य कर रही है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS