बाल फिल्मों का प्रदर्शन 13 को

 

bal film 1

रायपुर ।  छत्तीसगढ़ फिल्म एंड विजुअल आर्ट सोसायटी द्वारा ‘‘रायपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल’’ की श्रृंखला में प्रतिमाह क्षेत्रीय, राष्ट्रीय, अंर्तराष्ट्रीय फिल्में दिखाई जा रही हैं । इसी कड़ी में जून माह में 13 तारीख को स्थानीय वृन्दावन हाॅल में बलांगीर, उड़ीसा के आई.एफ.एफ.ओ. ग्रुप के सहयोग से बाल फिल्मों का प्रदर्शन सुबह 10 बजे से आयोजित किया गया है । इस एक दिवसीय आयोजन में निःशुल्क राष्ट्रीय-अंर्तराष्ट्रीय 33 फिल्में दिखाई जायेगी ।
सोसायटी के अध्यक्ष सुभाष मिश्र ने बताया कि बाल फिल्मों के प्रदर्शन के पीछे मंशा यह है कि हम अपने बच्चों के भविष्य के लिए सचेत नहीं दिख रहे हैं, हम उन्हें एक मशीन के रूप में तब्दील कर सामाजिक व्यापार में ढकेले दे रहे हैं । बेहतर शिक्षा के साथ बेहतर और ज्ञानवर्धक मनोरंजन भी हरेक बच्चे के लिए आवश्यक है, जिसे अभिभावक नजरअंदाज कर रहे हैं, जिसके खराब परिणाम दिखने लगे हैं । एक समय था जब टेलीविजन नहीं था तो सारी गर्मी की छुट्टियां बच्चे चंदामामा, लोटपोट, लंबू-छोटू, चाचा चैधरी, चंपक, पराग जैसे अनेक बाल साहित्य पढ़-पढ़कर गुजारते थे और अपनी कल्पनाओं के अनुरूप अपने मस्तिष्क में पढ़ी गई कहानी के अनुरूप चित्र बुनते थे, धीरे-धीरे बच्चों का प्राकृतिक और कल्पना संसार विस्मृत होता जा रहा है और वे वर्चुअल दुनिया में खोए हुए हैं।

bal film 2
इस समारोह में कुल 33 फिल्में दिखाई जाएंगीं जिनमें राष्ट्रीय के साथ-साथ अंर्तराष्ट्रीय बाल फिल्में भी शामिल रहेंगी । इनमें 1 मिनट से लेकर अधिकतम 30 मिनट की फिल्में हैं । दिखाई जाने वाली फिल्मों में ‘‘द सैण्डविच आईलैंड मैन’’, ‘‘चाचीस फ्यूनरल’’, ‘‘द किड एंड द बाईक’’, ‘‘द आरेंज गनी’’, ‘‘ए फिश काल्ड केईथ’’, ‘‘जन गन मन’’ आदि प्रमुख हैं । चिल्ड्रल फिल्म सोसायटी बलांगीर की ओर से इस समारोह में भाग लेने के लिए सुधीर भोई, श्रीकांत दास, संजय रथ, सुरेश साहू भी रायपुर आ रहे हैं । इस आयोजन में अभिभावकों को अपने बच्चों के साथ आने के लिए आग्रह किया गया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.