बाहर से प्रश्न..छात्रों का हंगामा…मांगा बोनस

IMG-20160308-WA0008बिलासपुर—एबीवीपी और बिलासपुर विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने आज कुलसचिव का घेराव किया। छात्रों ने कुलसचिव को परीक्षा में सेमेस्टर से बाहर के प्रश्न पूछे जाने पर एतराज जाहिर करते हुए बोंनस अंक की मांग की है। कुलसचिव अरूण सिंह ने जांच के बाद मामले को प्रबंधन कमेटी के सामने रखने का आश्वासन दिया है।

                 बिलासपुर विद्यालय में आज एक फिर छात्र संगठन और प्रबंधन आमने-सामने आ गए। एबीव्हीपी छात्र नेताओं ने विश्वविद्यालय प्रशासन पर प्रायवेट छात्रों को लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया है। एबीव्हीपी छात्र नेताओं के अनुसार विश्वविद्यालय प्रबंधन छात्र संगठन पर बेवजह दबाव की राजनीति कर रहा है।

                          आज बीएससी सेकेन्ड सेमेस्टर के छात्र और बीबीए सेकेन्ड सेमेस्टर की छात्राओ ने कुलसचिव के कक्ष में पहुंचकर विश्वविद्यालय प्रबंधन के खिलाफ नारे बाजी कर बोनस अंक की मांग की है। छात्राओ का  आरोप है कि बीबीए की परीक्षा में पूछे गये सवाल  सेमेस्टर के बाहर से हैं। जिसके चलते उनका पेपर ठीक नहीं गया है। छात्रों ने बताया कि ईकाई पांच में सभी प्रश्न बाहर के हैं। उन्होंने तैयारी भी नहीं की थी जिसके चलते प्रश्न को छोड़ना पड़ा है। कुलसचिव से छात्रों ने बोनस अंक की मांग की है।

                               आक्रोशित विद्यार्थियों को कुलसचिव ने जांच का आश्वासन दिया है कि उनके साथ न्याय किया जाएगा। उन्होने कहा कि प्रश्न बाहर से क्यों पूछा गया विश्वविद्यालय प्रबंधन के सामने जांच के बाद मामले को रखा जाएगा। प्रबंधन को लगता है कि प्रश्न बाहर से पूछा गया है तो निश्चित रूप से बोनस अंक दिया जाएगा।

                समय सारिणी में परिवर्तन से आधे से अधिक छात्र पेपर देने से चूक गए के सवाल पर कुलसचिव अरूण सिंह ने छात्रों को बताया कि विश्वविद्यालय प्रबंधन ने टाईम टेबल में समय प्रकाशित किया है। यदि छात्र-छात्राओ को स्वाध्यायी और नियमित में अंतर नहीं मालूम तो इसमें प्रबंधन क्या कर सकता है।  जांच के बाद ही तय होगा कि पेपर देने से वंचित छात्र-छात्राओं के लिए क्या किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *