हमार छ्त्तीसगढ़

बिलासपुर में भी होंगी राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताएं

khel bsp

रायपुर ।   मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में मेंगलवार को  यहां आयोजित छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ की कार्यकारिणी समिति की बैठक में राज्य में खेलों के विकास और 37 वें राष्ट्रीय खेलों के आयोजन की तैयारी के लिए कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। डॉ. रमन सिंह ने बैठक में कहा कि ऐसे  खेलों को चिन्हांकित कर उनमें अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी तैयार करने का प्रयास किया जाए, जिनमें छत्तीसगढ़ के खिलाड़ियों ने पदक जीते हैं या बहुत कम अंतर से पदक जीतने से चूक गए हैं। इस प्रकार के चिन्हांकित खेलों से संबंधित खिलाड़ियों को और भी बेहतर खेल और प्रशिक्षण की सुविधाएं उपलब्ध करायी जाएं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि बस्तर संभाग में एथेलेटिक्स सहित विभिन्न खेलों में अनेक प्रतिभाएं हैं। इन्हें राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं के लिए तैयार करने के प्रयास किए जाने चाहिए। बस्तर में खेल अधोसंरचना विकसित करने के लिए उद्योगों की भी मदद ली जानी चाहिए। उन्होंने 37 वें राष्ट्रीय खेलों की तैयारियों की समीक्षा के दौरान कहा कि छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ विभिन्न खेल संघों के साथ बेहतर तालमेल के साथ कार्ययोजना बनाकर राष्ट्रीय खेलों की तैयारियों में और भी अधिक गतिशीलता से जुटे। उन्होंने कहा कि रायपुर सहित बिलासपुर, राजनांदगांव और दुर्ग-भिलाई में राष्टीय खेलों की विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। इन शहरों में खिलाड़ियों के लिए आवास और प्रशिक्षण की व्यवस्था की जाएगी। छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ के संरक्षक लोकसभा सांसद  रमेश बैस और छत्तीसगढ़ हॉकी संघ के अध्यक्ष डॉ. अनिल वर्मा, राज्य सभा सांसद  रणविजय सिंह जूदेव, भारतीय ओलंपिक संघ की कार्यकारिणी के सदस्य  विक्रम सिसोदिया, छत्तीसगढ़ नागरिक आपूर्ति निगम की अध्यक्ष सुश्री लता उसेंडी, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मण्डल के पूर्व अध्यक्ष  सुभाष राव, छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ के महासचिव  बलदेव सिंह भाटिया, पूर्व विधायक  कुलदीप जुनेजा,  विजय पाण्डेय और  विश्वजीत मित्रा सहित विभिन्न खेल संघों के अध्यक्ष और पदाधिकारी तथा छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ की कार्यकारिणी के सदस्य उपस्थित थे।

सुकन्या समृद्धि योजना में खोले जाएंगे पांच लाख खाते
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS