बिल्हा विधायक का शराब व्यवसायियों के खिलाफ मोर्चा

IMG-20150903-WA0247मुंगेली —-बिल्हा विधायक सियाराम कौशिक ने आज अपने समर्थकों के साथ मुंगेली कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर सात बिन्दु को लेकर लिखित शिकायत सौंपा। विधायक ने कलेक्टर से बताया कि जिले के बिल्हा विधानसभा क्षेत्र में शराबमाफियों का आतंक है। पुलिस अपराधियों के साथ मिलकर आम लोगों को प्रताड़ित कर रही हैं। जगह-जगह बिना लायसेंस के शराब बिक्री हो रही है। सड़कों की हालत बद से बदतर है। सियाराम ने कलेक्टर से विधायक प्रतिनिधि के साथ दुर्व्यवहार करने की भी शिकायत की है।

             बिल्हा विधायक सियाराम कौशिक ने आज अपने समर्थकों के साथ जिला कार्यालय मुंगेली और पुलिस अधीक्षक कार्यालय का घेराव किया। कौशिक ने कलेक्टर को बिल्हा विधानसभा क्षेत्र मुंगेली के लोगों की समस्या को अवगत कराया।

             बिल्हा विधायक सियाराम कौशिक ने सीजी वाल को बताया कि मुंगेली में बिल्हा विधानसभा क्षेत्र का विकास जानबूझकर नहीं किया जा रहा है। विधायक प्रतिनिधि को प्राचार्य धमकी देकर कालेज से बाहर करते हुए रिपोर्ट लिखाने की धमकी देता है। इसके अलावा हमने कई समस्याओं को कलेक्टर के सामने रखा है।

                   कौशिक ने बताया कि सरगांव से पथरिया मुंगेली पहुंच मार्ग काफी जर्जर हालत में है। कई बार शिकायत के बाद भी अभी पैच कार्य नहीं किया गया। उन्होंने बताया कि मुंगेली जिले की पुलिसिंग बद से बदतर है। सिलदहा,पथरिया सरगांव गुण्डादेवरी, अमलडीहा,पेन्ड्री, बैतलपुर समेत दर्जनों गांव में शराब की अवैध बिक्री पुलिस के नाक के नीचे हो रही है। होटलों और ढाबों में खुलेआम शराब परोसे जा रहे हैं। बावजूद इसके पुलिस इन व्यापारियों पर शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं करती है।

               सियाराम ने बताया कि शासकीय महाविद्यालय   पथरिया में प्राचार्य विधायक प्रतिनिधि का नियुक्ति फाड़कर कहता है कि जो करना है कर लो। जाहिर सी बात है कि प्राचार्य को इतनी ताकत किसी रसूखदार से ही मिली होगी। उन्होंने प्राचार्य को यहां से हटाने की मांग की है। कौशिक ने कलेक्टर से पथरिया में महिला ड़ॉक्टर और ओपीड़ी की मांग करते हुए अतिरिक्त चिकित्सक नियुक्ति करने को कहा है। उन्होंने बीएमओ की शिकायत करते हुए कहा कि वे मुख्यालय से हमेशा नदारद रहते हैं।

       कौशिक ने पुलिस कप्तान को बताया कि पथरिया थानेदार की मनमानी से क्षेत्रीय लोग काफी परेशान है। जब-तक अपराधियों को संरक्षण और भोले भाले लोगों को परेशान करता है।

           सियाराम के अनुसार हमने कलेक्टर से शिकायत की है कि मोहनभठ्ठा ,धमनी,और भखरीडीह खदानों में अवैध बारूद से ब्लास्टिंग होती है। ब्लास्टिंग को किसानों के फसल को नुकसान हो रहा है। ब्लास्टिंग से मोहनभठ्ठा का शासकीय भवन और निजी मकानों को बहुत क्षति पहुंची है। कौशिक ने कलेक्टर से आवश्यक जांच के बाद क्षतिपूर्ति की मांग करते हुए ब्लास्टिंग के संबध में छत्तीसगढ़ जन सुरक्षा कानून के तहत जांच कर सम्बधितों के खिलाफ उचित कदम उठाने को कहा है।

               सियाराम ने बताया कि यदि प्रशासन ने निवेदन को नजरअंदाज किया तो हम किसानों के साथ उग्र आंदोलन और चक्का जाम करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.