मेरा बिलासपुर

बिसरा रिपोर्ट के बाद होगा खुलासा

kendriya jail me raman ke goth suna bandiyo ne (3)बिलासपुर–तलाब पर अवैध कब्जे की शिकायत पर सेवती के जीवन लाल मनहर को तत्कालिन एसडीएम ने जीवन को 107-116 के आरोप में केन्दीय जेल बिलासपुर भेजा था।  जेल में ही उसकी संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई थी। जीवन लाल की मौत क्यों और किन कारणो से हुई इसकी जानकारी अब तक नही हो पायी है। मौत के कारणों को जानने के लिए पुलिस अब बिसरा टेस्ट करवाने की बात कह रही है।

                         7 अक्टूबर 2015 को बिलासपुर केन्द्रीय जेल में प्रतिबंधित धारा 107-116 के आरोप में जीवन लाल मनहर की मौत हो गयी थी। सिविल लाइन थाने में मर्ग कायम कर जांच कर रहे एसआई बंजारे ने बताया कि जीवन लाल मनहर की मौत का कारण पोस्टमार्टम से नहीं हो पाया था। डॉक्टरो ने बिसरा जांच के लिए लिखा था।बिसरा रायपुर लैब भेजा गया है। मौत के कारणो का खुलासा होने के बाद ही आगे की कार्रवाई होगी।

                    जानकारी हो कि जीवन लाल मनहर के मामले में बिलासपुर कलेक्टर ने दण्डाधिकारी जांच के आदेश दिये है। जीवन के परिजनो ने हाईकोर्ट में भी जनहित याचिका पेश की थी। याचिका को हाईकोर्ट ने संज्ञान में लेते हुए कलेक्टर बिलासपुर और बिल्हा एसडीएम से मामले में जवाब तलब किया है।

Chhattisgarh-मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का बिलासपुर दौरा रद्द
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS