मेरा बिलासपुर

बीमार मिट्टी का होगा उपचार– सांसद

jila striya vrahad kishan mela (4)बिलासपुर—किसान खेतों की मिट्टी का परीक्षण जरूर कराएं। परीक्षण के बाद ही मालूम होगा कि यह मिट्टी कैसी है  उसमें क्या कमी है। कमी को दूर करने के लिए आवश्यकता अनुसार खाद डाले जिससे उत्पादन में फायदा होगा। सासंद लखनलाल साहू ने आज कृषि विज्ञान केन्द्र सरकण्डा बिलासपुर में विश्व मृदा दिवस पर आयोजित किसान मेला में यह बातें कहीं।

                                        सासंद लखनलाल साहू ने कहा कि मृदा परीक्षण से मिट्टी के तत्वों की कमी या अधिकता की जानकारी मिलती है। इंसानों की तरह ही मिट्टी का भी परीक्षण होता है। मिट्टी में जिन तत्वों की कमी पायी जाती है उसी के अनुसार उसका उपचार किया जाता है। उसी के अनुसार  उर्वरक का उपयोग किया जाता है।

                       सांसद साहू ने उपस्थित किसानों को बताया कि केन्द्र सरकार ने आज के दिन को मृदा दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया है। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य किसानों को जागरूक करना है। उन्होंने कहा कि जिले में इस वर्ष 17 हजार किसानों के खेतों का मिट्टी परीक्षण का निर्णय लिया गया है।  अभी तक 10 हजार से अधिक किसानों के खेतों का मिट्टी परीक्षण किया गया है। मुझे उम्मीद है इस अभियान में किसान बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे।साहू ने कहा कि इससे पैदावार को बढ़ावा मिलेगा। जिसका सीधा फायदा किसान को ही होगा।

                                       किसानों को संबोधित करते हुए लखनलाल साहू ने कहा कि  सिंचाईं के लिए एक-एक बूंद जल का सदुपयोग करे। जैविक खाद और आधुनिक पद्धति से कृषि कर अधिक उत्पादन ले। कार्यक्रम में जनपद अध्यक्ष गीताजंलि कौशिक ने कहा कि जवान और किसान हमारे देश के लिए महत्वपूर्ण है।जवान सीमा में देश की सुरक्षा करते है किसान देश में नागरिकों का पेट भरते हैं। उन्होंने किसानों से कहा किसान कृषि विभाग की योजनाओं का लाभ लें। अपने खेतों की मिट्टी परीक्षण कराए।

लॉकडाउन में किसान परेशान,न फसल के लिए दवाई मिल रही है न ट्रेक्टर के लिए डीज़ल, धीरेन्द्र दुबे ने समस्याएं रखीं तो सांसद अरुण साव ने कलेक्टर से की बात

                      उप संचालक कृषि काकोरिया ने आयोजन के सबंध में आवश्यक जानकारी देते हुए कहा कि इस वर्ष मिट्टी परीक्षण के लिए 17 हजार कृषकों का लक्ष्य रखा गया है। मिट्टी परीक्षण के बाद किसानों को मृदा परीक्षण कार्ड दिया जाएगा।  कार्यक्रम में कृषकों को अतिथियों के हाथों मृदा परीक्षण कार्ड का वितरण भी किया गया।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS