मेरा बिलासपुर

बेटी के हाथों पिता की हत्या

IMG-20160308-WA0015बिलासपुर—देवरीखुर्द निवासी एक बेटी ने मामूली विवाद पर पिता के सिर पर डंडे से वार कर दिया। वार इतनी जबरदस्त थी पिता की मौके पर ही मौत हो गयी। सूचना मिलते ही घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर बेटी को हिरासत में लिया है। लाश को पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय भेज दिया है। पुलिस की माने तो बेटी का इरादा जान से मारने का नहीं था।

                देवरीखुर्द के चन्द्रशेखर आजाद नगर निवासी बंधु विश्वकर्मा 86 साल रेलवे से रिटायर्ड कर्मचारी था। छ बेटियों के बीच तुलसी सबसे छोटी बेटी है। शादी के बाद तुलसी का अपने पति से विवाद हो गया। पति से तलाक लेने के बाद अपने पिता के साथ रहती थी। बुजुर्ग पिता से उसका रोजाना किसी न किसी बात को लेकर विवाद होता रहता था।

                      आज सुबह 6 बजे भी किसी बात को लेकर पिता और पुत्री के बीच विवाद हो गया। रोज की खटखट से परेशान तुलसी ने पास में रखे डंडे से पिता के सिर पर वार कर दिया। डंडे की चोट से घायल बंधु विश्वकर्मा को पडोसियो ने बेटी की सहायता से रेलवे हॉस्पिटल में दाखिल करवाया। लेकिन हॉस्पिटल पहुचने से पहले ही घायल पिता की मौत हो चुकी थी।

                       रेलवे चिकित्सालय की सूचना पर तोरवा पुलिस हॉस्पिटल पहुची और मामले की जानकारी के बाद बेटी तुलसी विश्वकर्मा को हिरासत में  लिया है। पूछताछ के बाद तुलसी ने पिता पर डंडे से हमला करना स्वीकार कर लिया है। पुलिस ने डंडा जब्त कर लिया है। मामले में गैर इरादत हत्या का मामला दर्ज किया गया है।

सुअरमारों ने की नाबालिग की हत्या

                  तोरवा थाना प्रभारी परिवेश तिवारी ने बताया कि 86 साल के बंधु विश्वकर्मा 86 और पुत्री के बीच रोज किसी ना किसी बात को लेकर विवाद होता रहता था। आज सुबह भी ऐसा ही हुआ। बंधु विश्वकर्मा की किसी बात से नाराज तुलसी ने डंडे से पिता के सिर पर वार किया और धक्का दिया। जिससे उसकी मौत हो गयी। मामले में अपराध दर्ज कर आरोपी को हिरासत में लिया गया है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS