मेरा बिलासपुर

बोधघाट में बनाएं अलग इकाई..अमित ने लिखा सीएम को पत्र..बताया प्रथम मुख्यमंत्री को होगी सच्ची श्रद्धांजलि

बिलासपुर—-जनता कांग्रेस नेता अमित जोगी ने मरवाही जल संसाधन विभाग को समाप्त किए जाने की रणनीति को रोके जाने की बात कही है। ट्विट कर अमित जोगी ने बताया कि मरवाही जलसंसाधन विभाग को स्थानांरित नहीं किए जाने को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश को पत्र भी लिखा है।
 
             ट्विट कर जोगी ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। जोगी ने कहा कि सूत्रों से जानकारी मिली है कि आपकी सरकार मरवाही जल संसाधन विभाग को बोधघाट में शिफ्ट करने जा रही है। विनम्र निवेदन है कि अभी मेरे पिता अजीत जोगी का स्वर्गवास हुए 20 दिन भी नहीं हुए हैं। ऐसे में उनके माध्यम से जनहित में लिए निर्णयों का सम्मान किया जाए। इकाई को मरवाही में ही रखा जाए। यदि ऐसा लगता है कि निर्णय जरूरी है तो  बोधघाट के लिए अलग से इकाई का गठन किया जाए।
 
                 जोगी ने ट्विट पर लिखा कि पापा के सबसे प्रिय क्षेत्र मरवाही के लोगों के विकास के लिए लिए गए निर्णय का सम्मान आपकी तरफ से सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
 
              अमित जोगी ने पत्र में लिखा है कि छत्तीसगढ़ राज्य गठन  बाद विकास कार्यों और जनता से जुड़े मामलों में शीघ्र निर्णय कार्यवाही और कसावट लाने अजीत जोगी ने जल संसाधन विभाग मरवाही में स्थापित किया था। इसके बाद मरवाही के जल सिंचित रकबा में चार गुना बढ़ोतरी हुई। 
 
            विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार  विभाग को बोधघाट में स्थानांतरित करने की योजना बन चुकी है।विनम्र निवेदन है कि अभी मरवाही विधायक पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी को दिवंगत हुए 20 दिन भी नहीं गुजरे हैं। ऐसे में पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय अजीत जोगी के जनहित में लिए निर्णयों का सम्मान करते हुए मरवाही जल संसाधन विभाग की इकाई को मरवाही में ही रहने दिया जाए।

धरम कौशिक ने कहा..व्यापारी की हत्या से आम जनता में भय..व्यवसायियों में आक्रोश..पीड़ित परिवार के लिए मांगा 1 करोड़ मुआवजा..बताया..प्रदेश का रूक गया विकास
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS