ब्लैकमेलिंग करते महिला और साथी गिरफ्तार…दूसरी फरार…झूठे मामले में फंसाकर मांग रही थी पांच लाख रूपए

बिलासपुर— बिलासपुर पुलिस ने झूठे मामले में फंसाकर रूपया एेठने वाले गिरोह के दो सदस्यों को पकड़ा है। जबकि एक अन्य महिला आरोपी अभी भी फरार है। एडिश्नल एसपी नीरज चन्द्राकर ने बताया कि फरार महिला आरोपी को भी जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।तीनों के खिलाफ सुशील खाण्डे की शिकायत पर धारा 384 और 34 के तहत अपराध दर्ज किया गया है।

                  एडिश्नल एसपी चन्द्राकर ने बताया कि गतौरा मस्तूरी थाना क्षेत्र निवासी सुशील खाण्डे पिता देवचरण खाण्डे ने बताया कि दो महिला और उसका पुरूष साथी झूठे मामले में फंसाने को लेकर फोन पर लगातार धमकी दे रही है। सुशील के अनुसार 5 जुलाई 2018 को मोबाइल पर मिस्ड काल आया। काल लौटाने पर किसी ने रीसिव नहीं किया। 9 जुलाई की रात्रि फिर उसी नम्बर से काल आया। महिला ने अपना नाम रिंकी ऊर्फ शहनाज बताई। महिला ने कहा कि वह मुझे जानती है। इसके बाद शहनाज ऊर्फ रिंकी का फोन दो एक दिन के अंतराल में आने लगा।

                  खाण्डे की शिकायत के अनुसार रिंकी ने फोन पर बताया कि तुम्हारा दोस्त एनजीओ चलाता है। उसे काम की जरूरत है। इसके बाद वह शहनाज से काम धाम को लेकर लगातार बातचीत होने लगी। 28 जुलाई को रिंकी ने दोपहर को स्टेशन बुलाया। सने कहा कि काम के सिलसिले में बातचीत करना चाहती है। मैने स्टेशन पहुंचकर अपने दोस्त हेमंत सारथी को भी बुलाया। इसके बाद हम दोनों महिला के साथ करबला स्थित भाजपा कार्यालय के पास नरसिंग पटेल के मकान में आ गए।

                 शाम को साढ़े सात बजे मकान में पहुंचते ही महिला बदल गयी। उसने कहा कि यदि तुम दोनों ने पांच लाख रूपए नहीं दिए तो पुलिस में रिपोर्ट कर दूंगी। पुलिस को बताउंगी की तुम दोनों ने मेरे साथ गलत किया है।  हम लोग डर गए। आनन फानन में रूपयों की व्यवस्था करने शहर में कई जगह घूमे। लेकिन पांच लाख की व्यवस्था नहीं हुई। इस बीच महिला लगातार धमकी देती रही। हम दोनों ने मिलकर महिला को नौ हजार रूपए दिए। और मैं अपने घर गतौरा चला गया।

                     सुशील खाण्डे ने बताया कि 4 अगस्त को फिर एक अज्ञात महिला का फोन आया। उसने कहा कि हम लोगों का शहनाज से संबध है। यदि बचना चाहते हो तो दस लाख की जगह पांच लाख की व्यवस्था करो। मामला सुलझा दूंगी। इसके बाद वह लगातार धमकी देती रही। झूठे रिपोर्ट में फंसाने की धमकी दी। इतना ही नहीं शहनाज, दूसरी महिला और रूपेश साहू 12 अगस्त को बिलासपुर पहुंच गए। रूपयों की मांग करने लगे।

नीरज चन्द्राकर ने बताया कि मामला समझ में आने के बाद खाण्डे ने सिटी कोलतवाली थाना पहुंचकर शिकायत की। इसके बाद थाना प्रभारी ने मामले के बारे में जानकारी दी। खाण्डे ने बातचीत के सारे रिकार्ड भी जमा किया।

                  पुलिस कप्तान आरिफ शेख ने मामले में तत्काल उचित कदम उठाने को कहा। पुलिस कप्तान के निर्देश पर तीनों आरोपियों के खिलाफ धारा 384 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया। एडिश्नल एसपी नीरज ने बताया कि तीनों आरोपियों में से रिंकी ऊर्फ शहनाज पति इशहाक उम्र 30 साल, रूपेश साहू पिता अउवा राम साहू उम्र 27 साल को 13 अगस्त को गिरफ्तार कर लिया गया है। ब्लैकमेलिंग करनी वाली दूसरी महिला अभी भी फरार है। उसे भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

              नीरज ने बताया कि रिंकी ऊर्फ शहनाज उमरिया मध्यप्रदेश और रूकेश तामाशिवानी आरंग रायपुर का रहने वाला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *