मेरा बिलासपुर

पुलिस तक पहुंची कोर्ट की मारपीट

IMG_20150921_153946बिलासपुर—भरत लोनिया के समर्थन में आज अधिवक्ताओं ने अधिवक्ता अवध त्रिपाठी के विरोध में पुलिस अधीक्षक कार्यालय और आई जी कार्यालय पहुंचकर मारपीट करने का आरोप लगाया है। भरत लोनिया का आरोप है कि अवध त्रिपाठी ने चोरी से राज्य अधिवक्ता परिषद के कार्यालय से गोपनीय दस्तावेज की फोटो खींच रहा था। मना करने पर उसने ना केवल गाली गलौच की बल्कि हाथापाई करने के बाद जान से मारने की धमकी भी दी है। भरत लोनिया ने बिलासपुर रेंज महानिरीक्षक और पुलिस कप्तान से न्याय की गुहार लगाई है।

                   आई जी पवन देव और पुलिस अधीक्षक अभिषेक पाठक से मिलकर अधिवक्ता परिषद के सदस्यों और भरत लोनिया ने लिखित शिकायत पेश कर अवध त्रिपाठी पर मारपीट का आरोप लगाया है। भरत लोनिया ने बताया कि अवध त्रिपाठी ने उसके साथ मारपीट और गाली गलौच किया है। उसने जान से मारने की धमकी भी दी है।

                      पुलिस प्रमुख से अपनी शिकायत में भरत लोनिया ने बताया कि अवध त्रिपाठी के खिलाफ पहले से ही अधिवक्ताओं के साथ मारपीट के कई मामले दर्ज हैं। लोनिया के अनुसार अवध त्रिपाठी और मेरे बीच अधिवक्ता परिषद चुनाव की सुनवाई राज्य अधिवक्ता परिषद कार्यालय में इलेक्शन ट्रिब्यूलनल के सामने चल रही थी। सुनवाई के बाद जब सभी सदस्य कार्यालय से बाहर चले गये तो अवध त्रिपाठी समय का फायद उठाते हुए अधिकरण की फाइलों से चोरी छिपे मोबाइल से दस्तावेजों की फोटो खीचने लगा। इसी दौरान मैं वहा पहुंचा और इस हरकत का विरोध किया।

                     भरत लोनिया ने बताया कि अवध त्रिपाठी ने मेरे विरोध किये जाने पर गाली गलौच करने लगा। मना करने पर उसने मारपीट करते हुए कहा कि मुझे जानते नहीं हो। मैं चाहूं तो तुम्हे उठवा सकता हूं। मेरे रसूख का तुम्हें अंदाजा नहीं है। उसने इस दौरान मेरे चेहरे और शरीर के अन्य भाग पर भी मारा। मुझे गहरी चोट भी लगी है। इसके बाद उसने धमकी देते हुए कहा कि जो करना हो कर लो मेरी पहुंच हाईकोर्ट तक है।

10 सेकन्ड और मोबाइल ब्लास्ट...विभाग में अफरातफरी..टुकड़ों में मोबाइल लेकर ग्राहक पहुंचा दुकान

                     पत्रकारों से बातचीत करते हुए लोनिया ने बताया कि अधिवक्ता परिषद चुनाव में मै दशमलव छः प्रतिशत वोट से अवध से हार गया। मैने इस निर्णय के खिलाफ एक याचिका विशेष ट्रिब्यूलन में लगाया है। उसकी आज सुनवाई चल रही थी। मुझे अंदेशा है कि अवध ने धोखाधड़ी कर जीत हासिल की है। सुनवाई के बाद जब सभी लोग लंच लेने बाहर गए तो इसी दौरान अवध त्रिपाठी ने आलमारी से फाइल को निकालकर दस्तावेज की फोटो मोबाइल से खींच रहा था। इस प्रकार की हरकत अपराध है। मै जब वहां पहुंचा तो उसने मारपीट और गाली गलौच करते हुए उठवा लेने की धमकी दी है।

               भरत लोनिया ने बताया कि हमने आज बिलासपुर रेंज प्रमुख पवन देव और पुलिस अधीक्षक अभिषेक पाठक से लिखित शिकायत कर आरोपी के खिलाफ न्यायोचित कार्रवाई की मांग की है। उन्होने बताया कि हमने पुलिस अधिकारियों से एफआईआर दर्ज नहीं किये जाने की भी शिकायत की है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS