मेरा बिलासपुर

भाजपा की रीति नीति से प्रभावित हुआ अल्पसंख्यक समुदाय..अमर

IMG_2493बिलासपुर—भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा जिला कार्यसमिति की पहली बैठक भाजपा कार्यालय में हुई। बैठक की शुरूवात भारत माता, पं.दीनदयाल उपाध्याय, डाॅ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी के छाया चित्र पर माल्यार्पण और दीप प्रज्वलित के साथ हुई। कार्यक्रम में प्रदेश के दिग्गज नेता शामिल हुए।

                     बैठक को निकाय मंत्री अमर अग्रवाल ने संबोधित किया। मंत्री ने कहा कि अल्पसंख्यक सामुदाय का बहुत बड़ा वर्ग भारतीय जनता पार्टी में तेजी से जुड़ रहा है। इसकी मुख्य वजह भाजपा की नीति रीति और सिद्धांत है। भाजपा को विश्व की सबसे बड़ी राजनैतिक पार्टी के रूप में जाना जाता है। सबका साथ सबका विकास के माहौल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुवाई में देश की जनता ने भाजपा को स्वीकार किया है। खासतौर पर अल्पसंख्यक समुदाय बड़ी संख्या में भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर रहे हैं। अग्रवाल ने मोर्चा कार्यकर्ताओं पदाधिकारियों को इसके लिये बधाई दी।अग्रवाल ने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार ने अल्पसंख्यक सामुदाय के लिए अनेक जनकल्याणकारी योजनायें लागू की है। कार्यकर्ताओं का दायित्व है कि योजनाओं का लाभ अल्पसंख्यक सामुदाय के लोगों तक पहुंचाएं।

                              सांसद लखनलाल साहू ने कहा कि अल्पसंख्यक मोर्चा सराहनीय कार्य कर रहा है।  केन्द्र और राज्य सरकार की जो भी योजनायें अल्पसंख्यक सामुदाय के लिये चलाई जा रही है उसका लाभ समुदाय को मिल रहा है।

            अल्पसंख्यक मोर्चा के जिलाध्यक्ष युसूफरजा बरकाती ने मोर्चा के कार्यकर्ताओं को बधाई देते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ बिलासपुर जिला अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश का सबसे बड़ा अधिक सदस्य वाला होगा।अभी तक अल्पसंख्यक सामुदाय के लोगों को अन्य राजनैतिक दलों ने भाजपा के प्रति भ्रामक जानकारी दी है। अब सब कुछ कांच की तरह साफ हो गया है। अल्पसंख्य समुदाय भाजपा के साथ हैं।

बिलासपुर,रायपुर समेत तीन जिलो को सात करोड़ जारी

                                         इस मौके पर भाजपा जिलाध्यक्ष रजनीश सिंह, मोर्चा प्रदेश महामंत्री इमरान खान, हज कमेटी के अध्यक्ष सैफुद्दीन, वरिष्ठ नेता मुर्तुजा वनक, सल्लामुद्दीन अशरफी ने भी बैठक को संबोधित किया। बैठक का संचालन मोर्चा जिला महामंत्री डिम्पल सिंह व आभार नाजिम अली ने किया।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS