मेरा बिलासपुर

भाजपा सांसदों के कड़वे बोल..केन्द्र से बेवजह ना टकराएं..सब केन्द्र ने ही किया..बात बात पर चिठ्ठी लिखने वाली सरकार बताए..उसने क्या किया.?

बिलासपुर— भारतीय जनता पार्टी प्रदेश उपाध्यक्ष और संसद सदस्य सुनील सोनी के साथ सांसद अरुण साव ने प्रदेश सरकार पर कहा कि बात-बेबात केंद्र सरकार को कोसने बन्द करें। अनर्गल प्रलाप की वजाय कोरोना की रोकथाम पर ताकत लगाएं। छत्तीसगढ़ में कोरोना के विस्फोटक फैलाव की दहशत से मुक्त कराएं। केंद्र सरकार के सहयोग से ही प्रदेश सरकार कोरोना संकट पर क़ाबू पा सकती है। इसलिए केंद्र से अनावश्यक टकराव से बचे।

                भाजपा सांसद सुनील सोनी और अरूण साव ने कहा कि कोरोना संकट से निपटने में देश के दीग़र कई राज्यों ने पुख़्ता इंतज़ाम किये है। इसलिए इन राज्यों में कोरोना का फैलाव नियंत्रण में है। लेकिन प्रदेश सरकार को अपनी ज़िम्मेदारी का अहसास तक नहीं है। हर ज़िम्मेदारी केंद्र सरकार पर डालकर कोस रहे हैं। केन्द्र से अनावश्यक टकराव का वक्त नहीं है।ना ही राजनीतिक नौटंकी का समय ही है। केंद्र सरकार के खि़लाफ़ प्रलाप करने कुछ कोरोना को नियंत्रित नहीं किया जा सकता है। प्रदेश सरकार ने पिछले तीन महीनों में रोज़-रोज़ पैसे मांगने के लिए चिठ्ठियाँ लिखने के अलावा कुछ नहीं की है।

      भाजपा संसदों ने कहा कि प्रदेश सरकार संकट की घड़ी में भी राजनीतिक ओछेपन से बाज नहीं आ रही है। झूठी वाहवाही में मशगूल प्रदेश सरकार उन कामों का श्रेय भी लेने की शर्मनाक कोशिशों में लगी है जो केंद्र सरकार ने किए हैं। प्रदेश में कोरोना के खि़लाफ़ जारी जंग में जिस एम्स चिकित्सा संस्थान ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। वह केंद्र सरकार से ही संचालित है। जिस मनरेगा की माला जपकर रोज़ प्रदेश की ग्रामीण अर्थ व्यवस्था की मज़बूती की डींगें हाँकते मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ग्रामीणों को रोज़गार देने की बात कर रहे हैं, उस मनरेगा के लिए पंचायतों को केंद्र सरकार के वित्त आयोग से राशि मिली है। कोरोना संकट के दौरान जारी लॉकडाउन से परेशान और प्रभावित करोड़ों परिवारों को तीन माह का भरपूर राशन केंद्र सरकार ने मुहैया कराया है। केंद्र सरकार ने करोड़ों परिवारों को निःशुल्क रसोई गैस देने के साथ ही जन-धन खातों में नकद राशि जमा किया है। किसानों को सम्मान निधि मुहैया कराई और प्रदेश के तमाम सम्माननीय कोरोना व़रियर्स के लिए पीपीई किट के साथ मास्क की आपूर्ति भी केंद्र सरकार ने की है।

दीक्षित सभा-भवन में सुन सकेंगे ' रमन के गोठ '

                 भाजपा सांसदों ने बताया कि केंद्र सरकार ने आपदा प्रबंधन मद के लिए प्रदेश सरकार को 216 करोड़ रुपए दिए। प्रदेश सरकार ने अपने नाकारेपन के चलते केंद्र सरकार के सहयोग के बाद भी प्रदेश में अपनी तरफ से कोई सहायता कार्यक्रम नहीं चलाया,। जो प्रदेश सरकार कोरोना वॉरियर्स का सम्मान तक करना नहीं जानती, जो प्रदेश सरकार केंद्र के हर फैसलों के विरोध के इकलौते एजेंडे पर चलने पर ही आमादा है, वह सरकार अपनी विफलताओं से मुँह चुराने के लिए केंद्र सरकार के विरुद्ध बिला वज़ह प्रलाप करके प्रदेश को गुमराह करने की नाकाम कोशिश कर रही है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS