भारत में डिजीटल भुगतान, बहुत बड़ी क्रांति–निहारिका

digidhan mela me kayshlesh pds shop ka subharambhबिलासपुर—-बिलासपुर में एक दिवसीय डिजिधन व्यापार मेले का आयोजन किया गया। संभागायुक्त निहारिका बारिक सिंह ने कहा कि आने वाले समय में हर चीज डिजिटल होगा। डिजिटल ट्रांजेक्शन के लिए लोगों को मानसिकता बनानी होगी।

                 स्व.लखीराम अग्रवाल स्मृति आॅडिटोरियम में एक दिवसीय डिजिधन व्यापार मेले का शुभारंभ निकारिका बारिक ने किया। उन्होने कहा कि हम सब भाग्यशाली है, कैशलेस व्यवस्था में शामिल हो रहे हैं। मध्यम आयु वर्ग के लोगों को डिजिटल ट्रांजेक्शन करने में असुविधा हो सकती है। बच्चे अपने मां-बाप की अगुवाई करें और उन्हें डिजिटल ट्रांजेक्शन के बारे में बताए।

                    कलेक्टर ने अन्बलगन पी. ने कहा कि हर भारतीय को डिजिटल पैमेंट में लाना एक क्रांति होगा। यह मेला एक शुरूआत है। किसानों को पहले किसान के्रडिट कार्ड दिया जाता था। अब रूपे कार्ड दिए जायेंगे। यह एटीएम कम, डेबिट या के्रडिट कार्ड होगा। मेले में जितने भी स्टाॅल लगाये गये हैं, वे सब कैशलेस है। राशन दुकानों में आधार अनेबल सिस्टम से कैशलेस भुगतान की सुविधा शुरू की जा रही है। शहर के 112 दुकानों में से 63 दुकानों में कैशलेस भुगतान की शुरूआत हो गयी है।

                         जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन और नोडल अधिकारी जे.पी.मौर्य ने स्वागत भाषण दिया। उन्होंने बताया कि डिजिटल ट्रांजेक्शन के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में 7 लाख से अधिक लोगों को प्रशिक्षण दिया गया है। शहरी क्षेत्रों में साढ़े तीन लाख से अधिक लोग प्रशिक्षित किये जा चुके हैं। विभिन्न योजनाओं को कैशलेस किया जायेगा। 95 प्रतिशत लोगों के आधार सिडिंग किये जा चुके हैं। 80 प्रतिशत खातों को आधार अनेबल कर लिया गया है।

अंगूठा अब बना बैंक

            मेले में संभागायुक्त निहारिका बारिक सिंह और कलेक्टर ने कैशलेस पीडीएस शाॅप का शुभारंभ किया। मेले में 43 पीडीएस दुकानों को मार्फों बाॅयोमेट्रिक डिवाईस दिया गया। कैशलेस पीडीएस शाॅप से हितग्राहियों को चांवल एवं अमृत नमक का वितरण किया गया ।  हितग्राही राशन लेने के बाद दुकानदार को आधार नंबर बतायेगा, जिस बैंक में उसका खाता है उस बैंक का नाम बताएगा और मार्फों मशीन में अपना अंगूठा रखेगा। जिससे तत्काल उसके बैंक खाते से आधार अनेबल सिस्टम के द्वारा दुकानदार को भुगतान हो जायेगा।

विजेताओं को पुरस्कार

राज्य शासन के कैशलेस विषय पर आयोजित संभाग स्तरीय आनलाईन जिंगल प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार 15 हजार रूपये, द्वितीय पुरस्कार आयुष मौर्य को 10 हजार रूपये, आनलाईन पोस्टर प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार आशीष कौशिक को 15 हजार रूपये, द्वितीय पुरस्कार नितिन तिवारी को 10 हजार रूपये दिया गया।

                   आनलाईन स्लोगन प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार दिग्विजय कुमार गभेल को 15 हजार रूपये और द्वितीय पुरस्कार 10 हजार रूपये का पुरस्कार प्रदान किया गया। डिजिधन मेले के अवसर पर आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रमों में समूह नृत्य, भाषण, जिंगल्स, स्लोगन, रंगोली, निबंध की प्रतियोगिताएं, स्कूली बच्चों एवं आम जनता के लिए आयोजित की गई है। प्रथम और द्वितीय विजेताओं को पुरस्कृत किया गया।

                       कैशलेस में विशेष योगदान के लिए लोक सेवा आपरेटर राकेश सिंह, सामान्य सेवा केन्द्र संचालक परवेज अली, राशन दुकान संचालक नरेन्द्र धुरी, बेस्ट मास्टर ट्रेनर्स एनआईसी के डीआईओ अरविन्द यादव, सीबीसी मरवाही के राजु मिरी को प्रमाण पत्र दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *