मेरा बिलासपुर

भूखे जनजातियों के बीच कांग्रेस अध्यक्ष..सपेरों ने बताया..कई दिनों से नहीं मिला खाना..चाहिए राशन

बिलासपुर— कोरोना महामारी ने गरीबों की कमर को तोड दिया है। खासकर हुनर दिखाकर कमाने खाने वालों की हालत लाकडाउन के दौरान बद से बदतर हो गयी है। कई परिवार ऐसे हैं जहां अभी भी राहर सामाग्री नहीं पहुंची है। या यूं कहें कि इन्हें पता ही नहीं कि सरकार की तरफ से राहत  में राशन की व्यस्था की गयी है। कोई अतिश्योक्ति पूर्ण बात नहीं होगी। कम से कम रतनपुर स्थित नवागांव क्षेत्र के सौरा बस्ती को देखने के बाद कमोबेश सब यही कहेंगे।
 
           रतनपुर के पास नवागांव मोहदा स्थित सौरा जनजातियों की बस्ती है। सौरा जनजाति सांप दिखाकर कमाते खाते हैं। सांप और सांप के साथ करतब दिखाने की उनकी आजीविका है। सौरा जनजाति का पूरा परिवार शहरों में घर घर पहुंचकर खतरनाक सांप जैसे कोबरा,करैत, वाइपर जैसे जहरीले सांप का प्रदर्शन करते हैं। जो मिलता है उससे परिवार चलाते हैं। 
 
            सौरा जनजाति जहरीले सांपो से खेलता है। बच्चे भी जहरीले सांपो को हाथों में लेकर खेलते दिखाई देते है। यायावरी और खानाबदोशी सौरा जातियों की आदत में शूुमार है। आज यहां तो कह वहां..इनकी आदत है। लेकिन कुछ समय बाद घर जरूर लौटते हैं।
 
            देखने में आया है कि पिछले 10-12 सालों से सौरा जनजातियों ने कोटा ब्लॉक के नवागांव मोहदा में भी अपना स्थाई ठिकाना बना लिया है। आज जब पूरी दुनियां कोरोना संक्रमण की मार से परेशान है। वहीं सौरा जनजाति भी इस मार अछूती नहीं है। लॉकडाउन के बाद जनजातियों के सामने भूखे मरने की स्थिति आ चुकी है। चूंकि गांव से लेकर शहर तक जनजीवन ठप है। ऐसे में उनके सामने पेट पालना निश्चित रूप से बहुत बड़ी चिंता है। 
 
            जानकारी मिलने पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी सौरा जनजाति की बस्ती में अपने साथियों के साथ पहुंचे। हालात देखने के बाद उन्होने चिंता और दुख दोनो ही जाहिर किया। केशरवानी ने पाया कि कई परिवार कई दिनों से भूखा है। इस दौरान बस्ती के लोगों ने आपबीती सुनाई तो विजय अपनी छलकते आंसुओं को रोक नहीं पाए। 
 
               इस दौरान विजय केशरवानी ने अपने साथ ले गए राशन का वितरण किया। साथ ही पंचायत और स्थानीय प्रशासन को हालात की जानकारी दी। विजय ने अधिकारियों और सरपंच को बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश के अनुसार इन्हें राहत में राशन की व्यवस्था की जाए।
 
                इस दौरान विजय केशरवानी ने सौरा जनजाति के बीच काफी समय बिताया। और सभी को लॉक डाउन की स्थिति में कोरोना  संक्रमण से बचने फिजिकल डिस्टेंसिंग का महत्व भी समझाया । ग्राम पंचायत पोंड़ी मोहदा के शासकीय उचित मूल्य की दुकान का भी निरीक्षण किा। संचालक से राशन की उपलब्धता की जानकारी लेने के साथ जनजातियों को भी राशन देने की बात कही। साथ ही यह भी निर्देश दिया कि यदि इन्हें राशन नहीं दिया गया तो शिकायत उच्च स्तर पर की जाएगी। 
 
        इस अवसर पर ब्लॉक कॉंग्रेस कमेटी नगर अध्यक्ष आनंद जायसवाल , आशीष शर्मा , नीरज जायसवाल , यासीन खान , सुभाष अग्रवाल , शिवा नंद पांडेय , दामोदर सिंह , मदन कहरा, अरुण दुबे , विक्की जायसवाल ,शिवशंकर कश्यप , बिन्नू यादव ,  महावीर साहू , संतोष साहू , एवं  कॉंग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित थे ।

अरूण साव निवास पहुंचने से पहले..पुलिस ने कांग्रेसियों को रोका..विजय और शैलेष ने स्मृति ईरानी के खिलाफ बोला धावा..एसडीएम को दिया गोबर, गौमूत्र और गंगाजल
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS