भूख से मौत मामले में मृतक के परिवार से मिले अफसर

बिलासपुर ।पेणड्रा में कथित रूप से भूख से हुई मौत के मामले में प्रशासनिक स्तर पर हलचल तेज हुई है। प्रशासन की पहल पर एक वरिष्ठ अधिकारी को मौके पर भेजा गया । जिन्होने स्थिति का जायजा लिया और दावा किया गया है कि मृतक की पत्नी के नाम पर राशन कार्ड बना है और और यह परिवार नियमित रूप से राशन उठाता रहा है।

पेण्ड्रा के सारथी मोहल्ले में मृत पाए गए व्यक्ति की पहचान मस्तूरी के नेतानगर मोहल्ले के जंगल सिंह ठाकुर (उम्र 65 वर्ष) के रूप में हुई है। प्रभारी कलेक्टर श्रीमती रानू साहू के निर्देश पर आज एडिशनल कलेक्टर  निर्मल तिग्गा मृतक की परिजनों से मिलने उसके घर पहुंचे। श्री तिग्गा ने मृतक जंगल सिंह की पत्नी रुकमणी और उनके बच्चों से मुलाकात की। उनके साथ मस्तूरी के एसडीएम टेकचंद अग्रवाल भी थे। श्री तिग्गा ने जंगल सिंह की मृत्यु पर संवेदना व्यक्त करते हुए उसकी पत्नी को जिला प्रशासन से हरसंभव सहायता करने की बात कही। कलेक्टर के निर्देश पर मृतक की पत्नी को राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना अंतर्गत तत्काल 20 हजार रूपये की सहायता राशि स्वीकृत कर दी गई है।
अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मस्तूरी के प्रतिवेदन के अनुसार मृतक की पत्नी श्रीमति रूखमणि के नाम पर राशन कार्ड बना है। राशनकार्ड का नम्बर 40020202020880 है। वे हर माह राशन का उठाव करते हैं। इस माह भी उन्होंने 11 मई को 28 किलो चावल और एक किलो शक्कर का उठाव किया है। उसके घर में खाद्यान की कमी नहीं पाई गई है। उसका 2002 की बीपीएल सर्वें सूची में नाम है। बीपीएल सूची में उसका नम्बर 175 है। यह परिवार मनरेगा में पंजीकृत है जिसका पंजीयन क्रमांक 390 है और उसका जॉब कार्ड बना हुआ है। पत्नी को सामाजिक सुरक्षा पेंशन भी मिल रहा है। माह मार्च अप्रैल की पेंशन राशि भी उसे प्राप्त हो चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.