मेरा बिलासपुर

भूमि अधिग्रहण में दलाली…जोगी

10 JULY 15 003बिलासपुर… आज एक प्रेस कांफ्रेस में जोगी ने प्रदेश और केन्द्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाफ मरवाही विधायक ने जमकर जहर उगला। उन्होंने बताया कि दगौरी में मेगा पावर के लिए किसानों की बिना अनुमति से भूमि अधिग्रहित किया जा रहा है। जिससे किसानों में भयंकर आक्रोश है। लेकिन कांग्रेस प्रदेश सरकार को किसानों के अहित में उठाए गए किसी भी कदम का विरोध करेगी।

                         मरवाही हाउस में आयोजित विशेष पत्रकार वार्ता में मरवाही विधायक अमित जोगी ने बताया कि दगौरी में किसानों की बिना सहमति से जिला प्रशासन दबाव डालकर जमीन को अधिग्रहित कर रहा है। जिसके चलते किसानों में भयंकर आक्रोश है। जोगी ने बताया कि दगौरी में अभी तक स्पष्ट नहीं है कि प्लांट किसका है। कौन इसका मालिक है। और प्लांट का स्वरूप क्या होगा। बावजूद इसके किसानों को बिना समय दिये जमीन हड़पा जा रहा है।

                   एक सवाल के जवाब में अमित जोगी ने बताया कि दलाल मालामाल हो रहे हैं। इसमें केबिनेट मंत्री तक शामिल हैं। मंत्री के इशारे पर ही जमीन को जबरदस्ती हड़पा जा रहा है। किसानों को उचित दाम भी नहीं मिल रहा है। उन्होंने खुलासा करते हुए बताया कि दगौरी भूमि अधिग्रहण में जिला प्रशासन के अलावा प्रदेश के सरकार के मंत्री भी दलाली का काम कर रहे हैं। 17 जून को जिला प्रशासन ने गुपचुप तरीके से पूंजीपतियों के लिए जमीन का सर्वे कर लिया। इसकी जानकारी स्थानीय विधायक को देना भी उचित नहीं समझा। और ना ही किसानों से मशविरा किया। जोगी ने जिला प्रशासन की कार्यशैली पर उंगली उठाते हुए कहा कि 27 जून को एक फरमान जारी किया जाता है कि दगौरी जमीन को अधिग्रहित कर लिया गया है। यदि किसी किसान या जमीन मालिक को इस कार्रवाई के खिलाफ कुछ ऐतराज है तो 29 जून तक अपनी शिकायत कर सकता है।

एकला चलो नीति पर कांग्रेसियों ने निकाली भड़ास

                              ोजोगी ने बताया कि इतने महत्वपूर्ण विषय पर वह भी जमीन अधिग्रहण मामले में किसानों और जमीन मालिकों को मात्र एक दिन का समय दिया गया। जबकि जिला प्रशासन जानता था कि 28 जून को रविवार है। इस दिन कोई सरकारी काम अधिकारी नहीं करते। बावजूद इसके जिला प्रशासन ने इस प्रकार का फरमान जारी किया। समझने वाली बात है कि ऐसा क्यों किया गया। उन्होने बताया कि यह सब रमन सिंह मंत्री के इशारे पर किया गया है। जोगी ने बताया कि किसान अपनी जमीन नहीं देना चाहते लेकिन जिला प्रशासन दबाव डालकर किसानों से जमीन छीन रहा है। जो सरासर अन्याय है।

                     एक प्रश्न के जवाब में अमित जोगी ने बताया कि हम उद्योग विकास के खिलाफ नहीं हैं। हम जिला प्रशासन की प्रक्रिया और उसकी कार्यशैली का विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि दगौरी की जमीन दो फसली है। पूंजीपतियों को सस्ते में जमीन खरीदकर दिया जा रहा है। उपर से जमीन अधिग्रहण को लेकर उनसे रायशुमारी भी नहीं की गयी। जाहिर सी बात है कि दाल में कुछ काला है। जोगी ने बताया कि जैसे ही मानसून सत्र खत्म होगा दगौरी किसानों के समर्थन में कांग्रेस पदयात्रा करेगी। लोगों की प्रतिक्रिया और परामर्श के बाद उग्र आंदोलन का रास्ता भी अख्तियार किया जाएगा।

इतनी जल्दबाजी क्यो..

     जिला प्रशासन इतनी जल्दबाजी क्यों कर रहा है। मात्र एक दिन में जमीन जैसे गंभीर प्रक्रिया को कैसे निपटाया जा सकता है। किसानों से रायशुमारी नहीं की गयी। उन्हें कितना मुआवजा मिलेगा। वे लोग विस्थापित होकर कहां जाएंगे। ऐसे कई प्रश्न हैं जिन पर विचार नहीं किया गया है। जाहिर सी बात है कि इसमें रमन सिंह के मंत्रियों का हाथ है।हम पदयात्रा करेंगे। उग्र आंदोलन करेंगे।

रोड ठेकेदार पर जुर्म दर्ज, बिलासपुर- तखतपुर रोड पर अधूरी सड़क और लापरवाही से हो रहे हादसे

                             अमित जोगी…मरवाही विधायक..कांग्रेस पार्टी

किसानों के साथ अन्याय

             किसान भय में है। उसे पता नहीं है कि उसकी जमीन सरकार छीनने वाली है। जिला प्रशासन ने स्थानीय विधायक होने के नाते मुझसे भी जमीन अधिग्रहण प्रक्रिया को लेकर विचार करना उचित नहीं समझा। इससे जाहिर होता है कि दाल में कुछ काला है। लेकिन हम सरकार की दाल को गलने नहीं देंगे।

                           सियाराम कौशिक..विधायक बिल्हा….कांग्रेस पार्टी

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS