मंत्रीपुत्र ने कहा विरोधी नहीं जानते विकास का ककहरा..शशि अमर का बयान..रोशन किया बिलासपुर शहर का नाम

बिलासपुर—निकाय मंत्री अमर अग्रवाल की पत्नी शशि अग्रवाल और पुत्र आदित्य अग्रवाल के अलावा खुद मंत्री ने शहर का भ्रमण किया। इसके अलावा मंत्री की बहन शारदा गोयनका ने रेलवे क्षेत्र,कतियापारा, कृष्णा नगर,कुम्हारपारा में सघन जनसम्पर्क किया। इस दौरान महिला मोर्चा पदाधिकारी,भाजपा नेताओं के साथ पार्षद भी मौजूद थे।
                             निकाय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के बिलासपुर विधानसभा प्रत्याशी अमर अग्रवाल के समर्तन में आज धर्मपत्नी शशि अग्रवाल ने रेलवे परिक्षेत्र का भ्रमण किया। सभी समाज से मिलकर अमर अग्रवाल के लिए वोट मांगा। इस दौरान अमर अग्रवाल की बहन शारदा गोयनका, महिला मोर्चा पदाधिकारी और परिवार के लोग भी मौजूद थे।
              शशि अग्रवाल ने आरटीएस कॉलोनी, बंगला यार्ड,वायरलेस  कॉलोनी में जनसम्पर्क कर  वार्ड वासियों से मुलाकात की। इसके पहले कतियापारा ,कुम्हारपारा ,कृष्णा नगर वार्ड में जनसम्पर्क कर भारतीय जनता पार्टी के लिए समर्थन मांगा। रेलवे क्षेत्र में जनसम्पर्क के दौरान शशि अमर अग्रवाल ने कहा बिलासपुर का रेलवे क्षेत्र सही मायनों में भारत की विविधता में एकता का प्रतीक है। यहां सभी संस्कृति और समाज के लोग निवास करते हैं। अपने दायित्वों का निर्वहन कर बिलासपुर का नाम देश में रोशन कर रहे हैं। स्वच्छता में बिलासपुर रेलवे स्टेशन को पिछले वर्ष देश में दूसरा स्थान मिला। रेलवे परिक्षेत्र बिलासपुर की शान है। अमर अग्रवाल को रेलवे क्षेत्रवासियों से हमेशा समर्थन मिलता रहा है। इस बार भी जरूर आशीर्वाद मिलेगा।
विरोधी नहीं जानते विकास का ककहरा–आदित्य
            मंत्री पुत्र आदित्य अग्रवाल ने इंदिरानगर ,तात्या टोपे  ,राम दास नगर वार्ड का भ्रमण किया। गुरुघासीदास, मिनिबस्ती, ओम नगर, राजेंद्र नगर वार्ड में भी गहन जनसम्पर्क  किया। आदित्य अग्रवाल ने वार्डवासियों के घर-घर पहुंचकर अपने पिता के लिए वोट मांगा। वार्डवासियो ने मंत्रीपुत्र का जगह-जगह स्वागत भी किया। आदित्य ने हा विरोधी विकास का ककहरा भी नहीं जानते। जनहित के मुद्दों का हमेशा विरोध किया। जानकारी मिल रही है कि विरोधी लोग जातिगत समीकरण पर जोर दे रहे हैं। सच्चाई तो यह है कि बिलासपुर शहर शांति का टापू है। यहां जाति-पांति की राजनीति नहीं चलती है। बिलासपुर के लोग एक दूसरे से कंधे से कंधा मिलाकर चलते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *