मंत्री के बयान पर कांग्रेस की नाराजगी,बोले-किसानों के जख्म पर छिड़का नमक

congress- panjaबिलासपुर—- कृषि और पशुपालन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के बयान की कांग्रेसियों ने निंंदा की है। कांग्रेस ने आम जनता, किसान मज़दूर को गुमराह करने वाला बयाना बताया है।जानकर आश्चर्य हुआ कि कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवा को छत्तीसगढ के किसान खुशहाल दिखाई दे रहे हैं। जबकि देश की ही तरह प्रदेश के किसानों की स्थिति ना केवल चिंताजनक है बल्कि दयनीय है।

                          छत्तीसगढ़ कृषि एवं पशुपालन मंत्री के बयान की कांग्रेसियों ने निंदा की है। एक दिन पहले बृजमोहन अग्रवाल ने पत्रकारों के सवाल पर कहा था कि देश में प्रदेश के किसानों की हालत अच्छी है। यहां के किसानों का कर्ज माफी का सवाल ही नहीं उठता है। बयान की निंदा पीसीसी महामंत्री अटल श्रीवास्तव समेत ग्रामीण अध्यक्ष राजेंद्र शुक्ला, शहर अध्यक्ष नरेंद्र बोलर, प्रदेश सचिव महेश दुबे, अर्जुन तिवारी, आशीष सिंह, विवेक बाजपाई,रामशरण यादव, शेख गफ्फार, निगम नेता प्रतिपक्ष शेख नजीरुद्दीन, सम्भागीय प्रवक्ता अभय नारायण राय ने है।

             कांग्रेस नेताओं ने संयुक्त प्रेस नोट जारी कर बताया है कि कृषि मंत्री बृज मोहन अग्रवाल का बयान बेहद गैरजिम्मेदाराना है। जबकि छत्तीसगढ़ के किसानों की हालत देश के अन्य किसानों की ही तरह चिंताजनक है। प्रदेश का किसान आर्थिक बोझ से दबा जा रहा है। बैंक ऋण से परेशान हताश किसान लगातार आत्महत्या कर रहे है ।

                        प्रेस नोट में कांग्रेस नेताओं ने बताया कि राजनांदगांव और कबीरधाम जिले के दो किसानों ने आत्महत्या कर ली है । दोनों किसान कर्ज़ से बेहाल थे । किसानों के सामने भाजपा सरकार ने अजीब स्थिति पैदा कर दी है । जबरदस्ती फसल बीमा कराया गया। पर्याप्त मानक बीज नही मिलने और खाद के अभाव में फसल की पैदावार नहीं हुई। अल्प वृष्टि की स्थिति में बांधो से पानी नहीं छोड़ा गया। अधिक फसल होने की स्थिति में सरकार ने समर्थन मूल्य नहीं दिया।

                         कांग्रेस नेताओं ने बताया कि भाजपा ने चुनावी घोषणा पत्र में 2100 समर्थन मूल्य और 300 रूपए बोनस देने का वादा किया था। भाजपा नेताओं ने आश्वासन दिया था कि धान का एक एक दाना सरकार खरीदेंगे। लेकिन किसी भी वादे को पूरा नहीं किया गया।

               कांग्रेस नेताओं ने कहा कि मंत्री का बयान  किसानों के जले में नमक छिड़कने जैसा है। मंत्री महोदय दीनदयाल उपाध्याय की तुलना महात्मा गांधी  से कर रहे हैं। ऐसा कहना या कल्पना भी करना मानसिक संकीर्णता को जाहिर करता है।

 संजय गांधी की पुण्यतिथि

        ज़िला कांग्रेस कमेटी 23 जून को सुबह 10.00 बजे कांग्रेस भवन में संजय गांधी को पुण्य तिथि पर श्रध्दांजली देगी। कार्यक्रम संयोजक सैय्यद ज़फर अली ने बताया कि संजय गांधी 70 के दशक में भारतीय राजनीति के धुरी थे । उन्ही के रचनात्मक सोच और प्रयास से पांच सूत्रीय और बीस सूत्रीय कार्यक्रम प्रारंभ किया गया। 23 जून 1980 को हवाई जहाज दुर्घटना में उनकी असमायिक मौत हो गई। श्रध्दांजलि सभा मे सभी कांग्रेस जन उपस्थित रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *